दमुवाढुंगा वासियों की सरकार को चेतावनी नोटिफिकेशन के बिना न घूसे, क्षेत्र की लोगों की चेतावनी जानने के लिए देखें वीडियो

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

दमुआ ढुंगा खाम एवम जवाहर ज्योति के लोगों ने अपनी भूमि का मालिकाना हक देने को लेकर सरकार को चेतावनी दी है। स्थानीय लोगों ने आज एक प्रेस वार्ता के माध्यम से कहा कि कई वर्षों से दमुआ ढुंगा के निवासी अपनी भूमि पर मालिकाना हक की मांग कर रहे हैं वर्तमान में कभी सरकार उनकी मांगों को पूरा करने के बजाए लटकाए हुए हैं जिससे ग्रामीणों में आक्रोश है उन्होंने कहा कि कई वर्षों से सरकार में बैठे लोग इस क्षेत्र को वन अधिनियम से बाहर कर मालिकाना हक दिए जाने की घोषणा करते हैं लेकिन उसके बाद इस पर कोई कार्रवाई नहीं करते हैं जिससे ग्रामीण अब आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में है।।

पत्रकार वार्ता में स्थानीय निवासी एडवोकेट गोविंद सिंह बिष्ट ने बताया कि कांग्रेस सरकार द्वारा 26 दिसंबर 2016 को एक अधिसूचना जारी कर इस क्षेत्र को वन क्षेत्र से बाहर करने का शासनादेश लाकर भूमिधरी घोषित किया था लेकिन उसके बाद कि आई सरकार ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि दमुआ ढुंगा क्षेत्र के लिए जो नोटिफिकेशन कांग्रेस सरकार द्वारा किया गया था उसी कोरना काल में रोक दिया गया।

स्थानीय लोगों ने बताया कि यदि 15 दिन में दमुवाढुंगा क्षेत्र के वार्ड 35 36, 37 के लोगों को भी स्वामित्व प्रदान करने के कांग्रेस सरकार के द्वारा जारी शासनादेश को क्रियान्वित करने की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं होती है तो जनता इसके लिए आंदोलन करने को बाध्य होगी। पूर्व प्रधान विजय चंद्र उर्फ पप्पू ने कहा कि वर्ष 2000 में पंडित नित्यानंद स्वामी उसके बाद 2007 में भुवन चंद्र खंडूरी ने इस क्षेत्र को अनारक्षित क्षेत्र से बाहर कर भूमि धरी घोषित किया था लेकिन इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई ।

वार्ता के दौरान पूर्व में प्रधान रहे विजय कुमार पप्पू वार्ड नंबर 36 की पार्षद चंपा देवी वार्ड नंबर 35 के पार्षद प्रतिनिधि देवेंद्र कुमार समाजसेवी लक्ष्मीकांत पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष लाल सिंह पवार रंजीत सिंह दसीला बबलू लिस्ट शंकर कोहली जीवन बिष्ट प्रदीप बिष्ट तथा अजय चंद्र समेत कई स्थानीय लोग मौजूद रहे। एक सवाल के जवाब में स्थानीय निवासी एवम कांग्रेस के महामंत्री गोविंद सिंह बिष्ट कहा कि जो पार्टी इस मुद्दे को लेकर उनका सहयोग करेगी वह उसके साथ ही खड़े रहेंगे

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *