मनचले ने दुपट्टा खींचा तो रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंची युवती, दारोगा बोला-रहने दीजिए, कोर्ट जाना पड़ेगा, लफड़ा बढ़ेगा

ख़बर शेयर करें

यूपी पुलिस अपने कर्तव्यों को लेकर कितनी संजीदा है इसका वाक्या बरेली जिले से सामने आया है। दरअसल एक मोहल्ले की युवती का दुपट्टा खींचने के मामले में दारोगा ने मुकदमा दर्ज करने से मना कर दिया। दारोगा ने कहा कि मुकदमा करने पर बेटी को कोर्ट जाना पड़ेगा। तारीख पर तारीख पड़ेंगी।

यह सारे लफड़े हैं। इसे झंझट बताकर दारोगा ने पीड़िता की तहरीर पर सरेआम दुपट्टा खींचने वाले आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केवल शांतिभंग की कार्रवाई की है। इससे पीड़िता के परिजनों में रोष है फरीदपुर के एक मोहल्ले का कारोबारी शनिवार शाम को बेटी के साथ मंदिर में पूजा करने जा रहा था।

बीसलपुर रोड पर सरेआम मनचले ने चलती बाइक से युवती का दुपट्टा खींच लिया। इससे युवती गिरने से बाल-बाल बच गई। युवती के चीखने पर पहुंची भीड़ ने आरोपी को पकड़ लिया। धुनाई लगाने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया। परिजनों के साथ थाने पहुंची पीड़िता ने आरोपी के खिलाफ छेड़खानी की तहरीर दी। इसके बाद मामले की जांच कर रहे दरोगा ने पीड़िता और उसके परिजनों को मुकदमेबाजी झंझट बताकर कार्रवाई नहीं की।

युवती के पिता का कहना है कि उन्होंने मुकदमा दर्ज कराने की मांग की तो दरोगा ने कानूनी प्रक्रिया और बेटी का भविष्य बर्बाद होने की बात कहकर मुकदमा दर्ज नहीं किया, जबकि आरोपी पर पहले से छेड़खानी के कई केस दर्ज हैं। पुलिस के कार्रवाई नहीं करने पर युवती और परिजन मायूस होकर घर लौट गए।

इसके बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ शांतिभंग के आरोप की कार्रवाई की। फरीदपुर इंस्पेक्टर हरवीर सिंह ने बताया कि परिवार के लोग मुकदमा दर्ज कराने के लिए मना करने लगे। इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं किया जाए। आरोपी पर पहले से ही कई मुकदमे दर्ज हैं। वह अन्य युवतियों व किशोरियों के साथ भी छेड़खानी कर चुका है। इसके बाद भी पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और केस दर्ज नहीं किया।

छेड़छाड़ के आरोपी को छोड़ने वाले थानाध्यक्ष लाइन हाजिर

मंत्री के दबाव में छेड़छाड़ के आरोपी को छोड़ने वाले सिरौली के कार्यवाहक थानेदार को एसएसपी ने लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं, पुलिस ने आरोपी को रविवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस चौकी बड़ागांव निवासी ज्ञानसिंह गुलड़िया के एक कालेज में पढ़ने वाली छात्राओं को कई दिनों से परेशान कर रहा था। शुक्रवार सुबह युवक ने स्कूल जा रही छात्राओं के आगे बाइक लगाकर छेड़छाड़ की थी।

इस पर छात्राओं ने शोर मचा दिया था तभी आसपास खेतों में काम कर रहे लोग दौड़े और युवक को पकड़कर चौकी पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने राजनैतिक दबाव में आरोपी को छोड़ दिया। इसके बाद पुलिस की खूब फजीहत हुई। इसी के चलते सिरौली के कार्यवाहक थानाध्यक्ष संजय शुक्ल को लाइनहाजिर कर दिया गया है।

छेड़छाड़ का विरोध करने पर परिजनों को पीटा

भमोरा में नल से पानी भरने गई किशोरी से युवक ने छेड़छाड़ की। विरोध करने पर आरोपी ने पिता और भाइयों के साथ किशोरी के परिजनों को पीटा। चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। बल्लिया चौकी क्षेत्र निवासी ग्रामीण ने बताया कि उसकी नाबालिग बेटी शुक्रवार की सुबह घेर में लगे नल से पानी भरने गई थी।

इस दौरान आरोपी रजनेश ने उनकी बेटी से छेड़छाड़ की। किशोरी की मां ने इसका विरोध किया तो आरोपी ने उन्हें पीटा। शोर-शराबा सुनकर किशोरी का पिता मौके पर पहुंचा तो आरोपी ने पिता और भाइयों के साथ मिलकर उन्हें भी पीटा। थानाध्यक्ष प्रयाग राज सिंह ने बताया कि किशोरी के पिता की तहरीर पर रजनेश पर छेड़छाड़ और उसके पिता-भाइयों सहित चार लोगों पर मारपीट का केस दर्ज किया गया है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.