बड़ी खबर-साथ जीने का रास्ता बंद होने पर प्रेमी युगल ने चुना साथ मरने का रास्ता

ख़बर शेयर करें

झांसी। जब परिवार प्यार में बाधा बन गया और साथ जीने का रास्ता बंद हो गया तो साथ मरने का रास्ता चुन लिया। हंसती खिलखिलाती प्रेम कहानी का दुखदाई अंत रेल की पटरी पर हो गया। झांसी जनपद के थाना प्रेमनगर क्षेत्र अंतर्गत झांसी -मुम्बई रेल मार्ग पर बल्लीपुर रेल क्रासिंग पर प्रेम प्रसंग के चलते किशोर-किशोरी ने ट्रेन से कटकर मौत को गले लगा लिया। दोनों सजातीय बताए गए हैं।

बुधवार को सुबह लगभग 6 बजे जनपद के थाना प्रेमनगर क्षेत्र अंतर्गत झांसी -मुम्बई रेल मार्ग पर बल्लीपुर रेल क्रासिंग पर लगभग 18 वर्षीय किशोरी व लगभग 17 वर्षीय किशोर पहुंचा और इधर उधर टहलने लगा। जैसे ही झांसी की तरफ से ट्रेन आयी दोनों ने छलांग लगा दी। यह देख कर क्रासिंग पर खड़े लोगों की चीखें निकल गई।

ट्रेन के निकल जाने पर दोनों रक्तरंजित हालत में पटरियों के बीच में पड़े मिले। सूचना मिलने पर चौकी बिजौली से पुलिस मौके पर पहुंच गई। जांच पड़ताल करने पर पता चला किशोर की मौत हो गई जबकि किशोरी की सांस चल रही थी। यह देख कर लड़की को गंभीर हालत में खैलार 108 एंबुलेंस द्वारा मेडिकल कॉलेज भेजा गया। मेडिकल पहुंचने के बाद लड़की को भी मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस के अनुसार मृतक लड़के का नाम सोनू पाल व लड़की का नाम करिश्मा पाल है और दोनों बल्लमपुर के रहने वाले हैं। पुलिस ने दोनो के शवों का पंचायत नामा भरकर कार्यवाही शुरू कर दी है।

दरअसल प्रेमनगर थाना क्षेत्र के बल्लमपुर पाल मोहल्ला निवासी 17 वर्षीय सोनू पाल और 18 वर्षीय करिश्मा का लगभग एक वर्ष पूर्व प्यार हुआ दोनों साथ जीने मरने के कसमें वायदे के साथ प्यार के सफर पर निकल पड़े। दोनो ने एक दूसरे को अपना जीवन साथी बनाने की ठान ली थी, लेकिन समाज और परिवार इनके जीवन साथी बनने में रोड़ा बन गया था। इसी के चलते आज दोनों तड़के बल्लम पुर रेल लाइन पर पहुंचे और जैसे ही ट्रेन आई तो आत्महत्या करने के लिए उसके आगे कूद गए। इस घटना से पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.