यहां बाप का महिला से चल रहा था प्रेम प्रसग,अपनी प्रेमिका को फंसाने के लिए बाप ने बेटी का रेप कर बेरहमी से की हत्या, मां भी साजिश में शामिल

ख़बर शेयर करें

Whatsapp Image 2022 06 08 At 11.58.01 Am

यूपी के उन्नाव से रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली एक घटना सामने आई है. उन्नाव में दो दिन पहले एक दलित किशोरी का शव रेल पटरी किनारे मिला था. किशोरी के शरीर पर 8 चोट के निशान थे. निजी अंग में गहरे जख्म भी मिले. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ हो गया था कि किशोरी के साथ दरिंदगी हुई है. अब पुलिस टीम ने खुलासा किया है कि बच्ची के साथ दरिंदगी के बाद उसकी हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि मासूम का बाप था. पुलिस की पूछताछ में पिता ने जुर्म स्वीकार कर लिया है. पिता ने पुलिस को बताया कि गांव की महिला से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था. महिला उसे दुष्कर्म मुकदमे में फसाना चाह रही थी. इसलिए उसने महिला को फसाने के लिए बेटी को गायब करने का खेल रच डाला.

आरोपी ने बताया कि इस दौरान शराब के नशे में उसने बेटी के गुप्तांग में अंगुली डाली और फिर नशे की हालत में बेटी का रेप कर दिया. बाद में बदनामी के डर से और महिला को फंसाने के लिए बेटी की हत्या कर दी. पुरे घटनाक्रम में पिता के अलावा मां भी शामिल रही. पुलिस ने आरोपी पिता और मां को गिरफ्तार कर लिया है. SP उन्नाव दिनेश त्रिपाठी ने इस खुलासे के लिए स्वाट टीम को 15 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है.

घर की छत से गायब हुई थी बेटी

बांगरमऊ कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की रहने वाले दलित परिवार ने 5 जून की रात किशोरी के अगवा होने की सूचना 112 नंबर पुलिस को दी थी. बताया गया है कि रात करीब 9.30 बजे घर की छत से बेटी को अगवा कर लिया गया था. सोमवार को लापता किशोरी का शव रेलवे लाइन किनारे पड़ा मिला था. इस दौरान रविवार की रात बेटी के गायब होने पर पुलिस में गुमशुदगी दर्ज हुई थी. बेटी का शव मिलने के बाद मृतका की मां ने गांव के ही लोधी समुदाय की महिला रीना उसके दो भाई, जेठ और देवर पर बेटी को अगवा कर दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया था.

पिता नहीं गया घटनास्थल पर

ASP शशिशेखर सिंह ने फोरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया था. इस दौरान छत से अगवा करने की बात पुलिस के गले नहीं उतरी. इसके अलावा पिता बेटी का शव मिलने पर घटनास्थल पर भी नहीं गया था. जबकि रविवार की रात 12 बजे के आसपास जहां बेटी का शव मिला. वहां पर पिता की मोबाइल लोकेशन मिली थी. जिस पर ASP ने पिता की गतिविधियों पर टीम को नजर रखने के आदेश दिए. वहीं पुलिस ने रीना के अलावा उसके दो भाइयों और देवर, जेठ पर अपहरण ,हत्या, एससी-एसटी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी.

पुलिस ने सोमवार की रात रीना, उसके भाई राजू , राजेश , जेठ संतोष और देवर बच्चन को उठा लिया था. सोमवार देर शाम PM रिपोर्ट में मृतका के शरीर पर 8 चोट के निशान, नाजुक अंग में घाव और खून के अलावा झिल्ली फट जाने की बात सामने आई थी. दुष्कर्म की आशंका पर एक स्लाइड बनाकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेज दिया गया. साक्ष्य रेप होने का सबूत दे रहे थे.

पिता ने पूछताछ में कई बार बदला बयान

मंगलवार दोपहर IG रेंज लक्ष्मी सिंह ने घटनास्थल पहुंच कर सघन निरीक्षण किया और जल्द खुलासे के आदेश दिए. उधर , मृतका के पिता के बार- बार बयान बदलने पर स्वाट टीम ने उन्हे हिरासत में ले लिया. IG रेंज ने सख्ती से 2 घंटे तक पूछताछ की. बयान बदलने पर पिता पर सख्ती की गई तो वह टूट गया और जुर्म कबूल करते हुए पूरी घटना सिलसिलेवार तरीके से बताई. जिसे सुनकर पुलिस अधिकारी भी अवाक रह गए.

नशे में कर दिया बेटी का रेप

आरोपी ने पुलिस को बताया कि गांव की महिला से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था. महिला उसे फसाना चाह रही थी. लागातर महिला के भाई , देवर और जेठ धमकी दे रहे थे कि तुम्हारी बेटी के साथ जघन्य अपराध करेंगे. बताया कि महिला को फसाने के लिए बेटी को गायब करने का सडयंत्र रचा. इस दौरान शराब के नशे में गुप्तांग में अंगुली डाली फिर नशे की हालत में गलत काम हो गया. उसके बाद बदनामी के डर और महिला को फसाने के लिए खंभे में लड़ाकर बेटी की हत्या कर दी और भाग निकला.

बता दें कि 3 जून को माता और पिता ने ससुराल में बेटी की हत्या की कहानी रची थी और 6 जून की रात घटना को अंजाम दिया है. SP उन्नाव दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि पूरे मामले का मास्टर माइंड पिता ध्रुव कुमार था. सहयोगी उसकी पत्नी भी रही है. पिता के अलावा माता पर 120 B का मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है.

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.