भाजपा सांसद को दबंगई पड़ी महंगी, मुकदमा दर्ज

Ad
ख़बर शेयर करें

अल्मोड़ा एसकेटी डॉट कॉम :

जागेश्वर मंदिर में आंवला सीट से भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप की दंबगई उनके लिए भारी पड़ गई। उनके अभद्र व्यवहार से जहां उनकी किरकिरी हुई वही भाजपा पर भी कांग्रेस समेत अन्य सभी जगह को उंगली उठाने का मौका मिल गया । सत्ता वापसी के लिए संघर्ष कर रही कांग्रेस को बैठे-बिठाए ही एक मुद्दा मिल गया। जिसको पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल समेत पूरी कांग्रेस पार्टी ने पूरे दिन घुमाया।

कश्यप का अभद्र व्यवहार का मामला रविवार को तूल पकड़ गया और अल्मोड़ा से लेकर हल्द्वानी तक कांग्रेसियों ने धरना-प्रदर्शन किया। मंदिर प्रबंधक से गालीगलौज व धक्कामुक्की मामले में पुजारी भी भड़के हुए हैं। पुजारियों के विरोध पर पुलिस ने आंवला सासंद के खिलाफ रविवार शाम आखिरकार मंदिर प्रबंधक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया।

मामला शनिवार शाम का है। आंवला से भाजपा सांसद धमेंद्र कश्यप, उनके साथी मोहन राजपूत व सुनील तायल जागेश्वरधाम पहुंचे। ये लोग दर्शन के लिए अक्सर आते रहते हैं। सांसद व उनके सहयोगियों को बता दिया गया था कि कोविड-19 नियमों के तहत सायं छह बजे बाद पूजा नहीं होगी।

पुजारियों के अनुसार सांसद कश्यप ने पूजा कर ली थी और फिर मंदिर से बाहर आने के बजाय इधर उधर घूमते रहे। बाहर जाने को कहने पर उन्होंने खुद को भाजपा सांसद बता हनक दिखाई।
बाहर मौजूद अन्य श्रद्धालु भी कश्यप को देख पूजन के लिए मंदिर में प्रवेश की जिद करने लगे। तब प्रबंधक ने सांसद कश्यप से छह बजने व मंदिर का गेट बंद किए जाने की बाध्यता बताई। इस पर कश्यप भड़क उठे। प्रबंधक भगवान भट्ट से सांसद व दो अन्य साथियों ने बहस, धक्कामुक्की व गालीगलौज शुरू कर दी। पुजारियों व मौजूद श्रद्धालुओं ने अभद्रता कर रहे सांसद का वीडियो बना लिया जो वायरल भी हो गया। इस बीच स्थानीय लोगों व पुजारियों ने सांसद को घेर लिया।

मंदिर में क्षमा याचना को कहा तो किसी तरह सांसद शाम करीब साढ़े छह बजे वाहन में बैठ खिसक लिए। वहीं, कश्यप ने प्रबंधक भट्ट पर गर्भगृह के दर्शन के लिए 1000 रुपये सुविधाशुल्क मांगने का आरोप लगाया।
इधर रविवार को पूरे मामले में आक्रोश पनप गया। जिन्हें पता नहीं था वह भी वायरल वीडियो देख सांसद के खिलाफ उतर आए। इंटरनेट मीडिया पर भी वायरल वीडियो पर लोग तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

एसडीम भनोली मोनिका सिंह ने बताया कि उनके खिलाफ मंदिर प्रबंधक भगवान भट्ट की तहरीर पर मुकदमा लिख दिया गया है। जांच के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *