आखिर मन्नू क्यों बन गया मोहरा! सुमित और ह्रदयेश के बीच

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी एसकेटी डॉट कॉम

हल्द्वानी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत वार्ड नंबर 37 से लगते हुए वार्ड में कि मे कॉन्ग्रेस का झंडा बुलंद करने वाले तथा युवा कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री ह्रदयेश कुमार और विधायक सर्वेश की बीच की खटपट का मुख्य कारण जो भी रहा हो लेकिन जिस ढंग से तल्खी बढ़ती जा रही है उसे आगामी दिनों में कोई घटना घट सकती है ।

इसमें कोई संदेह नहीं है। सुमित हृदेश के साथ हमेशा मजबूती से खड़े रहने वाले ह्रदयेश कुमार को आखिर यह बयान क्यों देना पड़ा कि वह है उनकी बढ़ती लोकप्रियता से से ईर्ष्या रखते हैं। जबकि सुमित का कोई बयान नहीं आया है ।

मन्नू गोस्वामी अब तक कई पुलिस अधिकारियों को इस मामले की शिकायत दे चुका है कि ह्रदयेश कुमार उसे लगातार धमकी दे रहा है वह कोतवाली के अलावा एसपी सिटी और काठगोदाम थाना ध्यक्ष से भी मिल चुका है ।उसने आरोप लगाया है कि हिरदेश कुमार उसके पत्नी को धमका रहा है तथा केस वापस लेने के लिए मजबूर कर रहा है ।

वही नए एपिसोड में वह थानाध्यक्ष काठगोदाम के पास पहुंचा तो उसने कहा कि उसके नंबर पर एक अज्ञात लड़की का फोन आया जिसने कहा कि वह उसके घर में आकर आत्महत्या कर लेगी और वह उसे फंसा देगी।

वही हृदेश कुमार का कहना है कि यह सुमित ह्रदयेश की ओर से हो रहा है और वह मनु गोस्वामी के माध्यम से उसकी छवि को खराब कर रहा है ।

सुमित हृदेश के इशारे पर ही पुलिस उसके खिलाफ मुकदमे लिख रही हैं

वही मन्नू गोस्वामी ने ही यह बात भी कही है कि हिरदेश कुमार विधायक सुमित् ह्रदयेश और उनकी स्वर्गीय माता के खिलाफ अपशब्द कहता रहता है जबकि पूर्व में भी यह देखा गया है कि हिरदेश कुमार पूर्व मंत्री एवं विधायक का डॉक्टर इंदिरा हिरदेश एवं सुमित प्रदेश के एक आदेश मैं हमेशा खड़ा नजर आता था।

लेकिन अभी ह्रदयेश कुमार की ओर से जो बयान आया है उसने कहा गया है कि सुमित उनकी बढ़ती लोकप्रियता चलती क्षेत्र में किसी और को स्थापित करने के लिए उनके खिलाफ मुक़दमे में लिखवा रहे हैं वही मनु गोस्वामी का कहना है कि सुमित देश उन्हें सपोर्ट करते हैं तथा उनके घर पर आते हैं और उनके बच्चों की पढ़ाई का भी खर्च उठाते हैं इन सब कार्यों ल

ह्रदयेश कुमार चिड़े हुए हैं। मन्नू गोस्वामी जोकि वार्ड 37 के ही निवासी हैं इसलिए यह भी हो सकता है कि उन्हें सुमित हिरदेश ने आगे क्या हुआ हो। विधायक सुमित और पार्षद के बेटे हिरदेश कुमार के बीच की तनातनी कहीं ना कहीं युवा कांग्रेस में वर्चस्व स्थापित करने की तो नही हो रही है। इसमें युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव में दूसरे नंबर पर रहे प्रत्याशी भी कहीं ना कहीं इस पूरे मामले के मोहरे भी हो सकते हैं

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.