जिन्हें उजायडू बलद कहते हैं उन्हें कांग्रेस के खेत की घास खिलाने की जुगत हरदा

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

जैसी जैसी मिशन 22 का मुकाम नजदीक आता जा रहा है सत्ता की कुर्सी के लिए समुद्र मंथन विपरीत ध्रुव एक साथ मिलने को बेताब हो रहे हैं । यह विपरीत ध्रुव कांग्रेश के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हरीश रावत और भाजपा के कद्दावर नेता हरक सिंह रावत भी एक दूसरे से मिलकर सियासत की नई खिचड़ी तैयार करने की जुगत में लगे । सियासी संग्राम 2022 के परहेज करने से भी पीछे नहीं है । सियासत के लिए नेता को क्या क्या न करना पड़ता है सारी चीजों को एक तरफ रख कर सत्ता को नजदीक लाने की हर जुगत करनी पड़ती है। ऐसी ही जुगत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के तौर पर सबसे पसंदीदा चेहरे के रूप में सामने आ चुके हरीश रावत भी करते नजर आ रहे हो। वही राजनीति में नित्य नए धमाके करने वाले हरक सिंह भी हरदा के साथ जमी बर्फ को पिघलाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं।

जानकार सूत्रों के अनुसार रविवार को हरदा ने हरक सिंह रावत से गोपनीय मुलाकात की जिसका असर जल्द ही सामने आ सकता है यह मुलाकात होटल पेसिफिक के चौथे माले पर हुई जहां हरीश रावत ने हरक सिंह के साथ मुलाकात की दोनों में बातचीत हुई उसके बाद दोनों अपने-अपने रास्ते निकल गए।

उत्तराखंड की सत्ता का सिरमौर बनने को लेकर 22 बैटल करीब आती जा रही है, वैसे-वैसे पहाड़ पॉलिटिक्स नित नए रंग बदलती दिख रही है। सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर आ रही है कि रविवार रात्रि देहरादून के पैसेफिक होटल में मौजूदा राजनीति के विपरीत ध्रुव समझे जा रहे दो दिग्गजों में गोपनीय मुलाकात हो गई है। हालाँकि धामी सरकार में कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत रविवार रात्रि किसी काम से होटल पैसिफ़िक जाने और उसी दौरान पूर्व सीएम हरीश रावत के भी वहाँ पहुँचने की बात तो स्वीकार रहे हैं लेकिन फिलहाल मुलाकात से इंकार कर रहे हैं। जबकि इस बारे में हरदा ने अभी तक चुप्पी साधी हुई है। लेकिन बेहद विश्वस्त सूत्रों की मानें तो दोनों नेताओं में मुलाकात भी हुई है और एक कमरे में बैठ कर गुफ़्तगू भी हुई है जिसका राजनीतिक परिणाम आने वाले हफ्तेभर में पहाड़ पॉलिटिक्स में दिख भी सकता है!


दरअसल, सूत्रों ने खुलासा किया है कि डॉ हरक न केवल होटल पैसेफिक पहुँचे बल्कि अपनी रूटीन फ्लीट छोड़कर एक i20 कार में सवार होकर पहुँचे थे और उनके कुछ ही देर बाद कांग्रेस भवन में एक बैठक में शिरकत कर हरदा भी सीधे होटल के चौथे फ्लोर पहुँचे और वहाँ कुछ देर रुके। जानकार सूत्र ने दावा किया है कि इसी दौरान दोनों दिग्गजों में गुफ़्तगू हुई।

ये अलग बात है कि कल तक हरदा को वटवृक्ष बता रहे डॉ हरक सिंह रावत अब गोपनीय मुलाकात कर आपसी रिश्तों में ज़मीं बर्फ पिघलाने की भरसक कोशिश कर रहे हैं। जबकि हरदा भी कल तक जिन्हें उज्याड़ू बल्द कह रहे थे अब मौजूदी सियासी सूरत ए हाल में कांग्रेस में बाग़ियों की घरवापसी को लेकर लगाए वीटो हटा सकते हैं।


वैसे भी कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत 2016 में हुए हरीश रावत के स्टिंग ऑपरेशन को गलत बता चुके हैं। अब सरकार गिराने को लेकर हरदा की इकलौती शर्त के अनुसार सार्वजनिक तौर पर माफी माँगने भर की दरकार है। अब अगर आने वाले दिनों में यह होता नजर  आ रहा है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.