टाइगर सफारी घोटाले में ‘लापता’ रेंजर आसाम से गिरफ्तार, IFS पर लटकी तलवार

ख़बर शेयर करें



उत्तराखंड में जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की पाखरो रेंज में टाइगर सफारी बनाने के नाम पर हुए घोटाले में आरोपी रेंजर बृज बिहारी शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। ये गिरफ्तारी आसाम से हुई है।


आपको बता दें कि जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की पाखरो रेंज में वन विभाग ने टाइगर सफारी बनाने का फैसला किया गया था। 106 हेक्टेयर वन क्षेत्र में टाइगर सफारी के लिए बाड़ों का निर्माण समेत अन्य काम की मंजूरी मिली। इश टाइगर रिजर्व को बनाने में बड़े पैमाने पर अनियमितता की शिकायत मिली। बिना अनुमति के पेड़ काटे गए। इसके साथ ही कई अन्य नियम विरुद्ध भी हुए। इन शिकायतों के बाद जांच हुई तो घोटाले का खुलासा हुआ। इसके बाद रेंजर बृज बिहारी शर्मा और हल्द्वानी सेक्टर में पूर्व डीएफओ (सेवानिवृत्त) किशन चंद समेत कई अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। विजिलेंस की जांच भी चल रही थी।


उधर जब विजिलेंस ने रेंजर बृज बिहारी शर्मा को तलाश करना शुरु किया तो पता चला कि वो लापता हो गए हैं। विजिलेंस ने शर्मा को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। शर्मा के आसाम में होने की सूचना मिली। इसके बाद पहुंची विजिलेंस की टीम ने बृज बिहारी शर्मा को पकड़ लिया।


माना जा रहा है कि विजिलेंस इस मामले में जल्द ही तत्कालीन डीएफओ किशनचंद की गिरफ्तारी भी हो सकती है। किशनचंद को इस मामले में मुख्य आरोपी बनाया गया है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.