खत्म हुआ ‘इंद्रजाल’ का तिलिस्म, मशहूर जादूगर ओपी शर्मा का निधन

ख़बर शेयर करें


अपने मैजिक से लोगों को हमेशा हैरान कर देने वाले मशहूर जादूगर ओपी शर्मा (OP Sharma) का शनिवार रात निधन हो गया. शर्मा यूपी के कानपुर (Kanpur) शहर के बर्रा (Barra) स्थित भूत बंगला में रह रहे थे. उनके शो के टिकट हाथोंहाथ बिक जाते थे. उनकी लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए उन्हें समाजवाजी पार्टी ने विधानसभा चुनाव का टिकट भी दिया था. अपने फैंस के अलावा ओपी शर्मा परिवार में तीन बेटों प्रेमप्रकाश शर्मा, सत्य प्रकाश शर्मा और पंकज प्रकाश शर्मा के अलावा बेटी रेनू और पत्नी मीनाक्षी शर्मा को छोड़ गए हैं.


नहीं रहा तिलिस्म का सिरमौर
ओपी शर्मा के निधन के साथ ही भारत में ‘जादूगरी’ के एक अध्याय के सफर का हमेशा के लिए अंत हो गया. दिल के साफ और बेहद मिलनसार जादूगर ओपी शर्मा दो साल पहले जब कोरोना महामारी चरम पर थी तब उसकी चपेट में आए थे. दहशत के उस दौर में ओपी शर्मा अस्पताल में कोविड-19 के जानलेवा वायरस को हरा कर जिंदगी की जंग जीतने के बाद घर लौट आए थे. लेकिन इस बार होनी को कुछ और ही मंजूर था और उनके निधन की खबर सामने आ गई.
डिप्टी सीएम ने जताया शोक
भले ही उन्होंने कानपुर की गोविंद नगर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा हो पर उनके चाहने वाले लगभग हर राजनीतिक दल में थे. बच्चों से लेकर बड़ों तक ओपी शर्मा के जादू का क्रेज सभी के सिर पर चढ़कर बोलता था.
यही वजह रही कि उनके निधन का यह दुखद समाचार मिलते ही यूपी के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी शोक जताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी.
कई दशकों से जादू के स्टेज के वन मैन शो, विश्व प्रसिद्ध जादूगर कानपुर निवासी श्री ओपी शर्मा जी के निधन की दु:खद सूचना प्राप्त हुई है।
ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और शोकाकुल परिजनों व प्रशंसकों को अपार दु:ख सहन करने की शक्ति दें।

वो हमेशा कहते हैं कि जिसे आप जादू समझते हैं वो कोई जादू नहीं बल्कि विज्ञान का ही एक चमत्कार है. उन्होंने अपने अंतिम शो में कहा था कि हर शो हाउसफुल के बाद भी यदि जादुई दुनिया को विराम देना पड़ रहा है, तो इसके पीछे आगे के कार्यक्रम हैं. ये कार्यक्रम पहले से तय हो जाते हैं. यहीं कारण है कि चाहकर भी कार्यक्रम आगे नहीं बढ़ा पाता.
अपने आखिरी शो में उन्होंने कहा था कि जिसकी शुरुआत होती है, उसका अंत भी होता है. ये प्रकृति का नियम है. मैं रहूं या न रहूं जादू चलता रहेगा. जब लोगों को ये पता चला कि ‘जादूगर’ का शो अंतिम पड़ाव पर है तो दर्शकदीर्घा में बैठे कई लोग भावुक हो गए थे. तभी एक महिला ने लगभग रोते हुए ये कहकर माहौल गमगीन कर दिया कि ‘अभी न जाओ छोड़ कर, दिल अभी भरा नहीं’.

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.