हत्या के बाद सूटकेस में छिपाया था फिरोज का शव, अब मुख्यारोपित की सहेली भी गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

हत्या के बाद सूटकेस में छिपाया था फिरोज का शव, अब मुख्यारोपित की सहेली भी गिरफ्तार

गाजियाबाद। टीला मोड़ थाना क्षेत्र के तुलसी निकेतन में फिरोज की गला काटकर हत्या करने वाली महिला की सहेली को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। उस पर हत्या में शामिल होने व साक्ष्य छिपाने का आरोप है। उसके प्रेमी की भी पुलिस तलाश कर रही है।

तुलसी निकेतन के फ्लैट में फिरोज की हत्या छह अगस्त की रात में हुई थी। ट्रॉली बैग में पैक करके शव को ठिकाने ले जाते हुए प्रीति पकड़ी गई थी। तब उसने बताया था कि वह चार साल से फिरोज के साथ लिव इन रिलेशन में थी। फिरोज शादी से इनकार कर रहा था इसलिए अकेले ही उसकी हत्या कर दी लेकिन जब मृतक के स्वजन ने उसके निकाह के साक्ष्य दिए तो मामले की नए सिरे से जांच की गई। पुलिस को शक था कि वारदात में कोई और भी शामिल हो सकता है, क्योंकि हत्या से लेकर दिल्ली से बैग खरीदकर लाने और फिर शव ठिकाने लगाने के लिए जाने तक प्रीति का अकेले सब करना गले नहीं उतर रहा था।

प्रीति के मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली गई तो उसमें हत्या से ठीक पहले तनु से बातचीत का पता चला। लोकेशन चेक की गई तो मौका ए वारदात पर प्रीति के साथ तनु और उसके प्रेमी का नंबर सक्रिय मिला। जिसके बाद पुलिस ने दिल्ली मौजपुर के विजयपार्क निवासी तनु को गिरफ्तार कर लिया। उसने अपने प्रेमी की मदद से फिरोज के खून से सने कुर्ता और पायजामा पॉलिथीन में पैक करके सिकंदरपुर में फेंक दिए थे। पुलिस अब तनु के प्रेमी की तलाश कर रही है।

शक करने की वजह से की हत्या
प्रीति ने पुलिस को बताया कि फिरोज उस पर बहुत शक करता था, इसलिए उसकी जान ली। उसकी सहेली तनु सलाह दी थी कि रोज-रोज के झंझट से अच्छा है कि या तो फिरोज का साथ छोड़ दे या फिर उसकी हत्या कर शव ठिकाने लगा दे। हत्या की रात छह अगस्त को तनु फ्लैट पर उसके पास आई हुई थी। तभी फिरोज ने झगड़ा शुरू कर दिया। कहने लगा कि तेरे किसी और से भी प्रेम संबंध हैं, तू उससे मिलने भी जाती है। इस पर तनु ने फिर कहा कि तू ऐसे आदमी को कैसे बर्दाश्त कर रही है? प्रीति ने पुलिस को घटनाक्रम के बारे में बताया कि झगड़े के दौरान ही वह उस्तरा निकाल लाई और फिरोज की गर्दन पर वार किया। वह रसोई तक भागा और वहां जाकर गिर पड़ा।

प्रीति ने बताया कि सहेली तनु ने लाश को बैग में पैक कराने में मदद की। फिरोज के खून के छींटे पूरे फर्श पर थे। इन्हें साफ करने में भी तनु ने मदद की। उसने कहा कि लाश को ठिकाने लगाना होगा। उसने फोन करके अपने प्रेमी को बुला लिया। प्रेमी ने ही कहा कि जिस बैग में लाश पैक की है, उसे लंबी दूरी की ट्रेन में रख आ। लाश दूर चली जाएगी। उसकी शिनाख्त मुश्किल से होगी। इसके बाद फ्लैट खाली करके कहीं और ले लेना। प्रीति यहां किराये पर रहती थी।

बता दें टीला मोड़ थाना क्षेत्र के तुलसी निकेतन में लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाली 32 वर्षीय प्रीति ने छह अगस्त की रात 23 वर्षीय प्रेमी फिरोज की उस्तरे से गला काटकर हत्या कर दी थी। सात अगस्त की रात शव को ट्राली बैग में रखकर ठिकाने लगाने जाते समय पुलिस ने उसे पकड़ लिया था। उसने शादी से इन्कार करने पर फिरोज की हत्या करने की बात कबूल की थी। लेकिन बाद में पता चला कि दोनों की शादी हो चुकी थी। प्रीति मूल रूप से कुतुबशेर, सहारनपुर की रहने वाली थी। फिरोज संभल के शहबाजपुर सूरा नगला का रहने वाला था।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.