ऑर्थोकान 2022- जोड़ों में सूजन को अनदेखा करना पड़ सकता है भारी विशेषज्ञों ने दी चेतावनी

ख़बर शेयर करें

डॉ अजय पॉल सिंह बने प्रदेश अध्यक्ष

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हाथ पैरों में दर्द और जोड़ों में सूजन होना एक आम बात हो गई है कई बार जोड़ों की सूजन को अनदेखा कर देते हैं लेकिन जोड़ों की सूजन को अनदेखा करना बोन टयूमर को न्योता देने के बराबर है बता दे कि घुटने से ऊपर नीचे की तरफ (जोड़ों में सूजन) है तो तो इसके कारण बोन टयूमर भी हो सकता है ऐसे में लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए इसके बारे में डॉक्टर दीपक कुमार ने आर्थोकान 2022 के दूसरे दिन आर्थोपेडिक ऑंनकोलॉजी विषय पर व्याख्यान दे रहे थे उन्होंने कहा कि जॉइंट में होते हैं कुछ मामलों में इनका फिलहाल अन्य तरफ भी होता है मैक्स अस्पताल के डॉक्टर विवेक वर्मा ने बोन टयूमर की जांच से जुड़ी जानकारियों के बारे में और एम्स के डॉक्टर मोहित ढींगरा ने इलाज से जुड़ी जानकारियों एड्यूजेन्ट थेरेपी के बारे में बताया इससे पूर्व हिप रिप्लेसमेंट से जुड़ी सर्जरी और उसमें नए इलाज से जुड़ी जानकारियों को डॉक्टर शैलेंद्र सिंह आदि विशेषज्ञों ने साझा किया दोनों सत्रों की अध्यक्षता क्रमशः वरिष्ठ ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉ मोहन सती और डॉक्टर भूपेंद्र बिष्ट की बच्चों की हड्डियों से जुड़ी बीमारी सर्जरी के बारे में डॉ शोभा अरोड़ा ने जानकारी दी।

खराब घुटनों को इस तरीके से किया जा सकता है ठीक

बनारस से आए डॉ अजीत सेजल ने बताया कि घुटना खराब होने के बाद पैर टेढ़े जैसे हो जाते है। अगर ग्रेड-3 क्या करें खराबी आई है तो उसे एक प्लेट के माध्यम से ठीक किया जा सकता है ये प्लेट 10 साल से ज्यादा चल सकती है इसमें अंग की विकृति ठीक हो जाती है बीमार व्यक्ति 15 दिनों में सामान्य हो जाता है यह विधि बीमार व्यक्ति की दृष्टि से भी सस्ती होती है।

ऑर्थोपेडिक सोसायटी के अध्यक्ष बने डॉक्टर पाल

डॉ अजय पाल को ऑर्थोपेडिक सोसायटी के अध्यक्ष पद का दायित्व सौंपा गया है उन्हें ये दायित्व डॉ0 आई एम सिंगल से मिला है। बता दें कि डॉक्टर से मिलने उन्हें बैच लगाया इस दौरान डॉ जेएस खुराना, सचिव डॉ पुनीत अग्रवाल डॉ पंकज सिंह डॉक्टर संजय रस्तोगी आदि लोग मौजूद थे

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.