अब मंत्रियों को कैबिनेट बैठक से 48 घंटे पहले मिलेगा एजेंडा

ख़बर शेयर करें

बीते रोज कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया गया था। जिसमें मंत्रियों ने एजेंडा देरी से मिलने पर नाराजगी जाहिर की। बैठक में मंत्रियों ने कहा कि एजेंडा देरी से मिलने पर उन्हें बैठक में लाए जाने विषयों की जानकारी विलंब से मिलती है। इसका असर कैबिनेट में लिए जाने वाले फैसलों पर पड़ता है। जिस पर सीएम धामी ने मंत्रियों को कैबिनेट बैठक से 48 घंटे पहले एजेंडा देने के निर्देश दिए हैं।


कैबिनेट की बैठक में कल मंत्रियों ने एजेंडा देरी से मिलने पर नाराजगी जाहिर की। इसके साथ ही मंत्रियों ने कहा कि एजेंडा देरी से मिलने पर उन्हें बैठक में लाए जाने विषयों की जानकारी विलंब से मिलती है।


इसी का असर कैबिनेट में लिए जाने वाले फैसलों पर पड़ता है। जिस पर सीएम धामी ने मुख्य सचिव को सभी मंत्रियों को बैठक से 48 घंटे पहले एजेंडा देने के निर्देश दे दिए हैं। अब मंत्रियों को 48 घंटे पहले एजेंडा मिल जाएगा।


मंत्रिमंडल की बैठक से दो दिन पूर्व मंत्रियों को मिल जाना चाहिए एजेंडा
उत्तर प्रदेश सचिवालय अनुदेश 1982 के नियम 11(2) के मुताबिक मंत्रिमंडल की बैठक से दो दिन पहले ही मंत्रियों को एजेंडा प्राप्त हो जाना चाहिए।मिली जानकारी के मुताबिक अब मंत्रिपरिषद अनुभाग की ओर से सभी विभागों के प्रशासनिक सचिवों को समय पर कैबिनेट नोट भेजने के निर्देश जारी होंगे।

Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.