लालकुंआ कार्यसमिति की बैठक – सैंया भये सत्ताधारी कोरोना का डर काहे का

Ad
ख़बर शेयर करें

राज्य सरकार के द्वारा जहां राज्य में कोरोना को लेकर इतने सख्त नियम कानून बना दिए गए हैं जहां पर आम इंसान की अगर नाक से नीचे भी मास्क को होता है तो उसे ₹500 का चालान कटवाना अनिवार्य है लेकिन क्या यही आदेश राज्य में भाजपा के नेताओं एवं उनकी पार्टी के द्वारा आयोजित बैठकों में भी शामिल होती है क्योंकि एक बड़ी खबर नैनीताल जिले के लाल कुआं क्षेत्र से सामने आ रही है यहां पर भाजपा के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमें ज्यादातर लोग बिना मास्क के नजर आ रहे हैं और ना ही यहां पर कोविड के नियमों का पालन किया जा रहा है

वहीं जहां पर राज्य सरकार कोरोना के लेकर आम जनता के लिए सख्त से सख्त निर्देश जारी कर रही है, क्या यही निर्देश इनकी पार्टी के लोगों के ऊपर भी लागू होंगे? क्योंकि आम पब्लिक को लेकर तो हजारों रूल पहले से मौजूद है लेकिन आम पब्लिक से ज्यादा तो सत्ताधारी लोग इन्हीं नियमो को तोड़ते हुए नजर आते हैं अब ऐसे में देखना यह होगा क्या स्थानीय पुलिस के द्वारा बैठक को लेकर कोई कार्यवाही की जाती है या नहीं। या फिर हकीकत में नैनीताल जिले का लाल कुआं क्षेत्र आज के समय में कोरोना मुक्त हो चुका है

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

1 thought on “लालकुंआ कार्यसमिति की बैठक – सैंया भये सत्ताधारी कोरोना का डर काहे का

  1. एक ही पार्टी नही है कभी किसी और का बारे में भी लिखो . सब का हाल एक ही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *