कोलकाता की चिटफंड कंपनी ने लाल कुआं वासियों को लगाया करोड़ों का चूना

ख़बर शेयर करें

ठगी को लेकर कई मामले सामने आते रहते हैं और कई चिटफंड कंपनियों के द्वारा ठगी के मामलों की वजह से चिटफंड कंपनियों के ऊपर विश्वास करने से लोग डरते हैं एक ऐसा ही मामला लाल कुआं क्षेत्र का सामने आ रहा है यहां पर कोलकाता की चिटफंड कंपनी ने लालकुआं में शाखा खोलकर क्षेत्रवासियों से 2 करोड़ 10 लाख रुपए का गबन कर दिया। पुलिस ने आरोपी चिटफंड कंपनी सक्सेस व्यू मल्टी सर्विस कम्पनी लिमिटेड एवं संध्या कृषि मल्टीपर्पज सोसाईटी लिमिटेड के स्वामियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी है।लालकुआं निवासी अमल कुमार विश्वास , पप्पू साहू , पप्पू सिहं , लक्ष्मी साहू , सरोज कश्यप , गिरीश सिंह परिहार , काजल कश्यप , सुन्दर सिंह मेहता ने पुलिस को तहरीर देते हुए कहा है कि वर्ष 2013 में कोलकाता के सक्सेस व्यू मल्टी सर्विस कम्पनी लिमिटेड एवं संध्या कृषि मल्टीपर्पज सोसाईटी लिमिटेड ने अपनी कई अलग अलग शाखा खोली। कम्पनी के सीएमडी मृत्युंजय साहू , एमडी सिन्हासिस भट्टाचार्या तथा डायरेक्टर अर्नव राय, उमा खान, मलिका भट्टाचार्य, तन्मय पंडित, निरंजन मंडल ने उनको नौकरी में रखते हुए कमीशन का प्रलोभन एजेंट बनाया।

विश्वास दिलाया गया कि कंपनी आरबीआई की गाइड लाइन का पालन कर रही है। तथा उसके पास आरबीआई का वैध लाइसेंस है। जिसपर उनके द्वारा क्षेत्रवासियों के खाते खोलकर धनराशि कंपनी में जमा की गई। शुरू में मैच्योरिटी होने पर कुछ खाताधारकों के मय ब्याज के पैसे भी दिए गए। तहरीर में प्रार्थीगणों द्वारा बताया गया है कि उन्होंने शाखाओं में कंपनी द्वारा जारी विभिन्न स्कीमो के तहत लगभग चार सौ व्यक्तियों के खाते खोले गए। और वर्ष 2013 से 2018 तक खाताधारकों से करीब दो करोड़ 10 लाख रुपये कंपनी में जमा हो गई।इधर कंपनी द्वारा अचानक खाता धारक को भुगतान करना बंद कर दिया। बार बार भुगतान हेतु कहने पर भी कम्पनी के जिम्मेदार अधिकारी प्रार्थीगणों को तमाम बहाने बनाकर टालते रहे। अगस्त 2018 में बैंक मैनेजर श्रीकांत बोरा गायब हो गया। जिसके बाद प्राथीगण कई बार कलकत्ता भी गए। जहां से उन्हें झूठा आश्वासन दिया गया। जिसके बाद कंपनी के अधिकारियों ने फोन उठाना भी बंद कर दिया। एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने कंपनी के सीएमडी, एमडी और डायरेक्टरों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।पीड़ित एजेंटो ने बताया कि लालकुआं से गबन करने के बाद आरोपी कंपनी संध्या कृषि मल्टीपर्पज को – ऑपरेटिव सोसाईटी लिमिटेड कम्पनी नाम बदलकर उसांसी बायो रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कोलकाता में रियल स्टेट का काम कर रही है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *