जानिए रामगढ़ ब्लॉक के काश्तकारों का सरकार से क्यों हो रहा है मोह भंग

ख़बर शेयर करें

सड़क नही होने से बागवनी का नही मिल रहा है लांभ

Ad
Ad


सुयालगाड दरमोटा शेरी नथुवाखान मार्ग कई वर्षों से है अधूरा

रामगढ़ skt. com


भाजपा का गढ़ माने जाने वाला रामगढ़ के सुयालगाड- दरमोटा नथुवाखान की सड़क नही बनने की वजह से फल पट्टी क्षेत्र सुयालगाड- दरमोटा मार्ग में स्थित कई गांव के ग्रामीण अपनी फसल का उचित लाभ नहीं ले पा रहे हैं।

जिससे यहां के ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है इस क्षेत्र में आडू खुमानी, पुलम नाशपाती जागनेल कश्मीरी शिमला मिर्च ,फुल गोभी, टमाटर मटर आदि विभिन्न प्रकार की सब्जियां व फलों का उत्पादन होता है तथा यह ग्रामीणों की मुख्य आजीविका भी है।

फल पट्टी क्षेत्र सुयालगाड दरमोटा मोटर मार्ग काफी समय से लंबित पड़ा है बजट की कमी ही नहीं बल्कि जन्म प्रतिनिधियों की अपेक्षा भी मुख्य कारण बना हुआ है । यहां से लोगों को खच्चरों में अपना उत्पाद ले जाना पड़ता है जो की काफी महंगा होता है एक बार में घोड़ा या खच्चर करने पर ₹300 तक का भाड़ा लग जाता है उसके बाद सड़क से यह माल मंडी पहुंचता है जिससे जो लागत आ जाती है उतनी कीमत भी नहीं मिल पाती है

जिससे ग्रामीणों में सरकार के प्रति जबरदस्त आक्रोश है। सुयालगाड तोक दरमोटा से शेरी नथुवाखान तक 3 किलोमीटर सड़क के वर्षों से अधूरी है। ग्रामीणअपने उत्पादों को सिर पर धोने तथा खच्चरों से लाने के लिए मजबूर है जिससे उनकी लागत भी नहीं निकल पा रही है सरकार की भी रखी के कारण यह काश्तकारी पर भी ध्यान नहीं दे पा रहे हैं जिस तरह की कास्तकारी से उनकी आजीविका भी नहीं चल पा रही है ।

अटल सेना अध्यक्ष युवा मोर्चा, कंचन सुयाल, अटल सेना मिडिया प्रभारी नीरज सुयाल, मनीष सुयाल, कैलाश सुयाल, समाजिक कार्यकर्ता विनोद सुयाल, गुड्डू सुयाल, राजेन्द्र सिंह, चंदन सिंह, दिनेश सुयाल, दिपक सुयाल एवं आदि ग्राम वासी सुयालगाड दडमोटा मोटर मार्ग न होने से नाराजगी जाहिर की है