यहाँ स्वास्थ्य शिविर,खेल प्रतियोगिताओं के साथ कई युवा बनेगे आइकॉन,२३-२४ को होग़ा आयोजन#miet

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

एम. आई. ई. टी. कुमाऊं, लामचौड़ में दो दिवसीय “देवभूमि qaयुवा जागरण महोत्सव 2023” के तहत स्वास्थ्य, प्रतिस्पर्धा, गीत संगीत एवं जनसरोकारों से सम्बंधित कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं. इस मौक़े पर युवाओं कों पानी प्रतिभा भी दिखाने का मौका मिलेगा.

किसी भी देश की युवा पीढ़ी उस देश का कल निर्धारित करती है। देवभूमि युवा जागरण प्रदेश के उन युवाओं को समर्पित किया जाता है, जो भारत के लिए एक स्वस्थ और बेहतर भविष्य को आकार देने की क्षमता रखते हैं. इस मोहत्सव का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को देशभक्ति, स्वास्थ्य एवं उद्यमिता के प्रति जागरूक करना है।महोत्सव में दोनों दिन निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया जाएगा तथा आयुष्मान कार्ड एवं डिजिटल आई. डी. आभा भी बनाई जाएगी।

युवाओ को रक्तदान के लिए प्रेरित करने हेतु दो दिवसीय रक्तदान शिविर भी लगाया जाएगा। महोत्सव में स्थानीय संसाधन और पर्यटन में स्वरोजगार के अवसरो पर कार्यशाला तथा दो दिवसीय ट्रेड फ़ेयर का आयोजन किया जाएगा जिसमे विभिन्न जिलो के उधमियों एवम स्वयं सहायता समूह द्वारा शिल्प कौशल व उत्पादों का प्रदर्शन किया जाएगा।इसके अतिरिक्त कार्यक्रम के पहले दिन (२३ जनवरी ) को विद्यालयों एवं दूसरे दिन (२४ जनवरी) कॉलेजो के छात्र-छात्राओ के मध्य देशभक्ति, सांस्कृतिक, एवम खेल की प्रतियोगिताएँ आयोजित की जायेंगी ।

प्रतियोगिताओं में किसी भी स्कूल या महाविद्यालय, विश्वविद्यालय के छात्र छात्रायें भाग ले सकते है।

देवभूमि युवा जागरण प्रदेश के उन युवाओं को समर्पित किया जाता है, जो भारत के लिए एक स्वस्थ और बेहतर भविष्य को आकार देने की क्षमता रखते हैं. इस मोहत्सव का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को देशभक्ति, स्वास्थ्य एवं उद्यमिता के प्रति जागरूक करना है।

महोत्सव में दोनों दिन निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया जाएगा तथा आयुष्मान कार्ड एवं डिजिटल आई. डी. आभा भी बनाई जाएगी। युवाओ को रक्तदान के लिए प्रेरित करने हेतु दो दिवसीय रक्तदान शिविर भी लगाया जाएगा। महोत्सव में स्थानीय संसाधन और पर्यटन में स्वरोजगार के अवसरो पर कार्यशाला तथा दो दिवसीय ट्रेड फ़ेयर का आयोजन किया जाएगा जिसमे विभिन्न जिलो के उधमियों एवम स्वयं सहायता समूह द्वारा शिल्प कौशल व उत्पादों का प्रदर्शन किया जाएगा।
इसके अतिरिक्त कार्यक्रम के पहले दिन (२३ जनवरी ) को विद्यालयों एवं दूसरे दिन (२५ जनवरी) कॉलेजो के छात्र-छात्राओ के मध्य देशभक्ति, सांस्कृतिक, एवम खेल की प्रतियोगिताएँ आयोजित की जायेंगी । प्रतियोगिताओं में किसी भी स्कूल या महाविद्यालय, विश्वविद्यालय के छात्र छात्रायें भाग ले सकते है।

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.