खुश खबरी -स्वास्थ्य विभाग में 4 हजार पदों पर होंगी नियुक्ति

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

राजकीय मेडिकल कालेजों व अस्पतालों में लंबे समय से रिक्त चल रहे एएनएम, स्टाफ नर्स व सीएचओ के करीब चार हजार से अधिक पद शीघ्र भर लिए जाएंगे। इसके लिए चयन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए सभी राजकीय मेडिकल कालेजों एवं जिला अस्पतालों में एमआरआइ, सीटी स्कैन, एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड सुविधा व टेक्निकल स्टाफ की नियुक्ति के निर्देश भी विभागीय अधिकारियों को दिए गए हैं।

वहीं, जिला अस्पताल, संयुक्त चिकित्सालयों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मरीजों की सहायता एवं अस्पताल की व्यवस्था और बेहतर बनाने के लिए गठित रोगी कल्याण समिति में जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।उन्होंने कहा कि शासन एवं महानिदेशालय स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों को एक-एक जनपद का भ्रमण करने व आवंटित जनपदों की स्वास्थ्य व्यवस्था का निरीक्षण कर दो सप्ताह के भीतर रिपोर्ट महानिदेशक को सौपेंगे। इसके अलावा राजकीय मेडिकल कालेजों एवं राजकीय चिकित्सालयों में आइपीएचएस मानक के अनुरूप पैरा मेडिकल स्टाफ, टेक्नीकल स्टाफ एवं एमटीएस कार्मिकों के ढांचे का प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट में प्रस्तुत करने के भी निर्देश उन्होंने दिए।

रक्तदान अमृत महोत्सव के अंतर्गत संचालित रक्तदान कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए उन्होंने अधिकाधिक रक्तदाताओं के पंजीकरण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान के इच्छुक छात्र-छात्राओं के लिए महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में रक्तदान शिविर आयोजित किए जाएंगे।स्वास्थ्य मंत्री ने वर्चुअल माध्यम से सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की समीक्षा की।

उन्होंने सभी सीएमओ को शत-प्रतिशत टीबी रोगियों को गोद लेने के लिए एक सप्ताह के भीतर नि-क्षय मित्र बनाने के निर्देश दिए। साथ ही नि-क्षय मित्र के शीघ्र लिंकेज करने को भी कहा। डा. रावत ने कहा कि उत्तराखंड देश का दूसरा राज्य है जहां सर्वाधिक नि-क्षय मित्र बनाए गए हैं।

अबतक प्रदेश में 5 हजार से अधिक नि-क्षय मित्र बन चुके हैं। बैठक में प्रभारी सचिव डा. आर राजेश, चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष डा. डीएस रावत, चिकित्सा शिक्षा विवि के कुलपति प्रो. हेमचंद्र, अपर सचिव चिकित्सा शिक्षा गरिमा रौंकली, अमनदीप कौर, प्रभारी स्वास्थ्य महानिदेशक डा. विनीता शाह, निदेशक एनएचएम डा. सरोज नैथानी, निदेशक चिकित्सा शिक्षा डा. आशुतोष सयाना आदि उपस्थित रहे

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.