उत्तराखंड में भी पंजाब प्रयोग-हरीश चेहरा तो गणेश गोदियाल नए कप्तान , भुवन, तिलक,जीत एवम रंजीत को किया एक्टिव प्रीतम नेता प्रतिपक्ष

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी/ दिल्ली एसकेटी डॉटकॉम

आगामी 2022 के चुनावी अभियान के लिए प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने पूरी टीम में बदलाव करते हुए नए अभियान के साथ सत्ता पाने का लक्ष्य रखा है।

पार्टी के हाईकमान की ओर से महासचिव वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के अनुसार पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष के रूप में चेहरा प्रस्तुत किया है। वही संगठन में बदलाव करते हुए पूर्व में विधायक रहे गणेश गोदियाल को नया प्रदेश अध्यक्ष तथा निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह को नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी दी है।

इसके अलावा प्रदेश के समीकरणों को साधते हुए पंजाब की तर्ज पर चार कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किए हैं जिनमें में मुख्य रूप से खटीमा से वर्ष 2017 में पार्टी के प्रत्याशी रहे भुवन कापड़ी, तिलक राज बेहड़ जीतराम तथा पूर्व विधायक रंजीत रावत को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। ।

प्रदेश में चुनावों के लिए 8 समितियों की भी घोषणा कर दी है। इनमें चुनाव अभियान समिति जिसके अध्यक्ष हरीश रावत जिन्हें मुख्यमंत्री का चेहरा बनाया गया है के साथ प्रदीप टम्टा को उपाध्यक्ष तथा दिनेश अग्रवाल को इस कमेटी का संयोजक बनाया गया है।

प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव की अगुवाई में चुनाव कोर कमेटी का गठन किया गया है जिनमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रीतम सिंह तथा प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल सदस्य होंगे।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की अध्यक्षता में समन्वय समिति पूर्व मंत्री नवप्रभात की अध्यक्षता में घोषणा पत्र समिति एआईसीसी के पूर्व में सचिव रहे प्रकाश जोशी के नेतृत्व में चुनाव प्रबंधन समिति सुमित हृदेश के नेतृत्व में प्रचार समिति धीरेंद्र प्रताप के नेतृत्व में कांग्रेस संपर्क समिति विजय सारस्वत के नेतृत्व में प्रशिक्षण कार्यक्रम समिति तथा राजीव महर्षि के नेतृत्व में मीडिया समिति का गठन किया गया है ।

इन समितियों में वरिष्ठ नेताओं को सदस्य के रूप में जिम्मेदारी दी गई है। इसके अलावा प्रदीप टम्टा ,काजी निजामुद्दीन, करण मेहरा ,सूर्यकांत धस्माना, आरपी रतूड़ी, मथुरा दत्त जोशी को वरिष्ठ प्रवक्ता के रूप में जिम्मेदारी दी है ।

मीडिया समिति में दीपक बलुटिया गरिमा दसोनी समेत कई तेजतर्रार युवाओं को प्रवक्ता की जिम्मेदारी दी है तथा प्रत्येक जिले से एक कोऑर्डिनेटर के रूप में भी प्रवक्ता नियुक्त किया गया है ।

कांग्रेस ने जहां पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को आने वाले 2022 के लिए 72 वर्ष की उम्र में यह जिम्मेदारी दी है वही युवा चेहरे के रूप में गणेश गोदियाल को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है ।

इसके अलावा पंजाब की तर्ज पर क्षेत्रीय एवं जातीय समीकरणों को साधने के लिए चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए हैं जिनमें मुख्य रूप से कुमाऊं क्षेत्र के तराई के रहने वाले खटीमा से वर्तमान में प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ चुनावी मुकाबला करने वाले युवा भुवन कापड़ी तथा पंजाबी समुदाय का नेतृत्व करने वाले तिलकराज बेहड़ तथा अनुसूचित जाति के चेहरे के तौर पर जीतराम को गढ़वाल मंडल से तथा रणजीत सिंह रावत को कुमाऊं मंडल से ठाकुर चेहरे के रूप में कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है ।

भाजपा के वर्तमान में ठाकुर मुख्यमंत्री एवं मैदानी क्षेत्र के ब्राह्मण चेहरे को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से नए वाले समीकरण को देखते हुए पार्टी ने चार कार्यकारी अध्यक्षों का यह नया खेल खेला है यह चुनावी अभियान में कितना अहम बनता है यह तो देखने वाली बात होगी लेकिन जिस तरह से नेताओं की अपेक्षाएं बड़ी है ऐसे में इस तरह का कदम उठाना पार्टी नेतृत्व के लिए आवश्यक हो गया था ।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *