तांत्रिक के कहने पर मां ने अपने ही बेटे की दे डाली बलि, 4 माह के मासूम को फावड़े से काटा

ख़बर शेयर करें

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में एक मां का विभत्स रूप देखने को मिला. दरअसल, यहां एक कलयुगी मां ने अपने 4 माह के बच्चे की तंत्र साधना के चक्कर में काली की प्रतिमा के सामने फावड़े से काटकर बलि चढ़ा दी. हृदय विदारक इस घटना से गांव में सनसनी फैल गई है. मौके पर सूचना पाकर पहुंची पुलिस टीम ने आरोपी महिला को हिरासत में ले लिया है.

घटना सुल्तानपुर जिले के गोसाईगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत धनऊडीह गांव की है. जानकारी के मुताबिक, यहां शिवकुमार नामक शख्स का परिवार रहता है. खुद शिवकुमार कानपुर में मजदूरी का काम करता है. जबकि, उसकी पत्नी 35 वर्षीय मंजू देवी गांव में ही रहती है. 4 महीने पहले मंजू ने एक बेटे को जन्म दिया. बच्चे के पैदा होने से शिवकुमार का परिवार काफी खुश था. लेकिन शिवकुमार को ये नहीं पता था कि एक दिन उसकी पत्नी ही उसके बेटे की जान ले लेगी.

रविवार की सुबह लगभग 9:00 बजे गांव में काली प्रतिमा के सामने मंजू ने अपने 4 माह के बच्चे प्रीतम की फावड़े से काट कर बलि दे दी. ग्रामीणों ने बताया कि मंजू देवी मानसिक रूप से बीमार है. वह अक्सर अजीबो-गरीब हरकतें करती रहती थी. लेकिन इस बार तो उसने खुद के बेटे को ही मौत के घाट उतार दिया. जिसकी कल्पना किसी ने भी नहीं की थी.

घटना की सूचना पाकर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और महिला मंजू देवी को हिरासत में ले लिया. वहीं, 4 माह के बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चरी भेज दिया गया है. यह घटना पूरे जिले में चर्चा का विषय बन गई है.

कुछ लोगों ने पुलिस को बताया कि मंजू देवी किसी तांत्रिक के चक्कर में पड़ी हुई थी. उसने मनोकामना पूरी करने के लिए ही तांत्रिक के कहने पर अपने बच्चे की बलि दे दी है. हालांकि, ये तांत्रिक कौन है ये किसी को नहीं पता. पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने बताया कि फिलहाल मामले में हर एंगल से जांच की जा रही है. मंजू से भी पूछताछ जारी है.

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.