पांच साल के आर्यन को उठा ले गया गुलदार, अधखाया शव मिलने के बाद हंगामा

ख़बर शेयर करें


पौड़ी के पैठाणी के बड़ेथ गांव में एक गुलदार के हमले में पांच वर्षीय एक बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। गुलदार मां के सामने ही उसके बेटे को उठा ले गया।


बताया जा रहा है कि ये गुरुवार की शाम ये घटना घटी। रात तकरीबन आठ बजे के आसपास बड़ेथ गांव के लाल सिंह के बेटे, पांच साल के आर्यन को घात लगाकर बैठे गुलदार ने अपना शिकार बना लिया। बताया जा रहा है कि आर्यन की मांग रात में गौशाला की ओर जा रहीं थीं। इसी बीच आर्यन उनके पीछे दौड़ा। तभी पहले से घात लगाकर बैठे गुलदार ने आर्यन पर झपट्टा मार दिया और मां के सामने ही पलक झपकते आर्यन को जंगल में लेकर भाग गया। इसी बीच आर्यन की मां ने शोर मचाया तो लोग जंगल की ओर दौड़े।


लेकिन अंधेरा होने की वजह से जंगल में गुलदार को तलाशा नहीं जा सका। हालांकि टार्च की रौशनी में ग्रामीणों ने कोशिश जरूर की लेकिन धुंध ने उन्हें सफल नहीं होने दिया। आज सुबह फिर से स्थानीय लोग और वन विभाग व पुलिस जंगल में दाखिल हुई। जंगल में कुछ ही दूरी पर आर्यन का अधखाया शव बरामद हुआ।


इसके बाद आर्यन के घर में कोहराम मच गया। स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। लोगों ने वन विभाग के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। ग्रामीणों की माने तो इस गुलदार के इलाके में होने की खबरें एक हफ्ते से थी। लोगों ने इसके वीडियो बनाकर भी वन विभाग के अधिकारियों को दिए लेकिन विभाग ने पिंजरा लगाने की जहमत नहीं उठाई। गुलदार को आबादी वाले इलाके में घूमते भी देखा गया था। अगर वन विभाग सक्रिय होता तो शायद आर्यन की जान बच जाती।


फिलहाल ग्रामीणों की नाराजगी के बाद अब इलाके के विधायक और कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने भी वन विभाग के अधिकारियों से सख्त नाराजगी जताई है। धन सिंह रावत ने पूछा है कि पहले से पता होने के बाद भी आखिर क्यों नहीं बचाव के उपाय किए गए। धन सिंह रावत ने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि गुलदार को पकड़ा जाए या जरूरत हो तो मारने की अनुमति ली जाए।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.