आप किसकी बी टीम भाजपा की या कांग्रेस की! केजरी के मुफ्त बिजली के वायदे को फुटबॉल बनाते भाजपा और कांग्रेस

ख़बर शेयर करें

देहरादूनएसकेटी डॉटकॉम

उत्तराखंड में आगामी 8 महीने के बाद मिशन 22 की तैयारी में लगे भाजपा व कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के मुफ्त बिजली देने के वायदे को फुटबॉल बनाकर रख दिया है। उत्तराखंड की जनता के बीच दोनों राष्ट्रीय पार्टियों भाजपा व कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी में मुफ्त बिजली का झुनझुना रख दिया है। उत्तराखंड में अपनी राजनीतिक जमीन टटोलने आई आम आदमी पार्टी ने दिल्ली का मुफ्त बिजली का नुक्सा यहां भी अपनाने का निर्णय लिया इस मुद्दे पर आम आदमी पार्टी कहीं बढ़त ना ले ले इसलिए भाजपा ने इसे चुनावी मुद्दे के तौर पर उछाल दिया।

धामी मंत्रिमंडल में ऊर्जा का नया प्रभार मिलने पर मंत्री हरक सिंह रावत ने 100 यूनिट बिजली मुफ्त देने तथा 200 यूनिट मैं सब्सिडी देने की बात कहें और इसे जल्द ही कैबिनेट में लाने की बात कही हालांकि इस बात की हवा अगले ही दिन निकल रही जब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अभी कैबिनेट में नहीं आने और जब आएगा इस पर उचित निर्णय लेने की बात कही।

भाजपा द्वारा इसे चुनावी मुद्दा बनाने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री हरदा पूर्व हरीश रावत जी कहां पीछे रहने वाले थे उन्होंने भी भाजपा के इस वायदे पर अपना सियासी तीर चलाते हुए 200 यूनिट मुक्त बिजली देने का वादा किया जिसमें पहले 100 यूनिट और उसके बाद दूसरे साल फिर 100 यूनिट बिजली लेने का वादा कर डाला ।

साथ ही भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि सौ यूनिट ही क्यों आप 200 यूनिट बिजली फ्री कर दीजिए इसके साथ ही इसे चुनाव से पहले लागू कीजिए कहीं चुनाव हो जाए और उसके बाद सत्ता में आने वाली पार्टी को मुफ्त बिजली देने पडी।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल अपने पार्टी के मुफ्त बिजली देने के वायदे का हाईजैक होने के बाद उन्होंने इसे एक बार फिर से हवा देने का निर्णय लिया जिसके लिए वह उत्तराखंड के एक दिवसीय दौरे पर देहरादून पहुंच रहे हैं। यहां पहुंचने के बाद जो है पत्रकारों के साथ अपने वायदे को मजबूती से रखने के बाद कार्यकर्ताओं के साथ मुलाकात करेंगे जिसके बाद शाम को वह दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

चुनावी हवा तेज होने के संकेत मिलने के बाद सभी राष्ट्रीय दलों ने अपने अपने हथियार तलाशने शुरू कर दिए हैं। भाजपा जहां सरकार के नेतृत्व की अदला बदली तथा

और चिंतन बैठक के माध्यम से जमीनी कार्यकर्ताओं से फीडबैक ले रही है ।

वही आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस भी महंगाई बेरोजगारी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में उछाल आने के खिलाफ मुख्यमंत्री आवास गिराओ करने के लिए देहरादून में प्रदर्शन कर रहे हैं।

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा सीएम आवास घेराव कर बड़ा प्रदर्शन किया । जिस से उत्साहित होकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर मुफ्त बिजली के मुद्दे को हवा भरते हुए कहा कि
“उत्तराखंड खुद बिजली बनाता है, दूसरे राज्यों को बेचता भी है।फिर उत्तराखंड के लोगों को इतनी महँगी बिजली क्यों। जबकि आम आदमी पार्टी के दिल्ली के नागरिकों को मुफ्त बिजली दी जा रही है और दिल्ली खुद बिजली नहीं मनाता है जबकि खरीद कर ही सही अपने नागरिकों को मुफ्त बिजली दे रहा है इसीलिए उत्तराखंड के लोगों को भी मुफ्त बिजली दी जाएगी

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि दोनों पार्टियों का उत्तराखंड में कोई जनाधार नहीं है कांग्रेश जहां अपनी खोई हुई जमीन ढूंढ रही है वही आम आदमी पार्टी राजनीतिक जमीन के लिए मुक्त बिजली का ढिंढोरा पीट रही है


वही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश में आम आदमी पार्टी कांग्रेस की बी टीम है और दोनों का ही जन सरोकारो से कोई वास्ता नहीं है। उन्होंने दोनों ही दलों के मुख्यमंत्री आवास कूच को दोनों का शक्ति प्रदर्शन बताया और कहा कि कांग्रेस राजनैतिक अस्तित्व को तलाश रही है तो आप को राजनैतिक ज़मीन की जरूरत है।
कांग्रेस द्वारा भी आज महंगाई सरकार की नाकामियों तथा पेट्रोल व डीजल की बढ़ती कीमतों और बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ बड़ी भारी संख्या में मुख्यमंत्री आवास की ओर कुछ किया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भाजपा सरकार को पूरी तरह से नाकाम बताया भाजपा ने स्वास्थ्य शिक्षा तथा रोजगार के लिए कोई प्रयास नहीं किए जिसकी वजह से उत्तराखंड में बेरोजगारी बड़ी है। वही प्रदेश प्रवक्ता दीपक बलिया ने अपने बयान में कहा कि भाजपा अपना दृष्टि पत्र निकाल कर उस में किए गए वादों और उसके द्वारा पूरे किए गए वादो का आकलन कर ले उसके बाद वह कुछ कहे तभी ठीक रहेगा भाजपा साढे 4 साल में कोई वादा पूरा नहीं कर सकी।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *