पुरानी दीवार को तोड़कर नई बनाने का चल रहा था काम, तभी भरभरा कर गिरी दीवार, 4 मजदूरों की मौत

ख़बर शेयर करें

नोएडा के सेक्टर-21 स्थित जलवायु विहार में आज सुबह नाले की निर्माणाधीन दीवार अचानक गिर गई. इस हादसे में वहां काम कर रहे 12 मजदूर दीवार के नीचे दब गए. सूचना पर पहुंची सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस, फायर ब्रिगेड की टीम ने पांच जेसीबी मशीनों की मदद से मलबे को हटाकर दीवार के नीचे दबे मजदूरों को बाहर निकाला. हादसे में गंभीर रूप से घायल चार मजदूरों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस का कहना है कि बाकी मजदूरों को सुरक्षित मलबे से बाहर निकाल लिया गया है.

मृतक के परिजन ने क्या कहा?

मृतक मजदूर के परिजन शर्वेंद्र यादव ने बताया कि उनके घर के दो लोग हादसे में मारे गए. शर्वेंद्र ने कहा, “घर में मातम का माहौल है. खबर सुनते ही सब यहां आने के लिए निकल गए. भईया को मालूम था कि दीवार कमजोर है. अगर क्रेन से दीवार गिरा दी जाती तो शायद आज मेरे घर के दो लोग जिंदा होते.”

चार बच्चों को पीछे छोड़ गया पुष्पेंद्र

आपको बता दें कि मरने वालों में पुष्पेंद्र और अमित एक ही परिवार के हैं. दोनों के बीच चाचा भतीजे का रिश्ता है. मृतक पुष्पेंद्र की शादी 15 साल पहले हुई थी और वो अपने पीछे 4 बच्चों को छोड़ गया है. पुष्पेंद्र 15 साल से मजदूरी का काम कर रहा था. वहीं पन्ना लाल और धर्मवीर भी एक ही परिवार के हैं और उनके बीच भी चाचा भतीजे का रिश्ता बताया गया. धर्मवीर के बड़े भाई ऋषिपाल उनके साथ ही साइट पर काम कर रहे थे और उनकी आंखों के सामने ही दीवार भरभरा कर गिर पड़ी.

एक ठेकेदार हिरासत में और एक फरार

पांच दिन पहले ही सेक्टर-21 स्थित जलवायु विहार सोसायटी के पास नाले की पुरानी दीवार को तोड़कर नई दीवार बनाने का काम किया जा रहा था. इस काम में 12 मजदूर दीवार की ईंटें निकालने में लगे थे. उसी दौरान ये हादसा हुआ. हादसे के बाद नोएडा पुलिस की 4 टीमें आरोपी ठेकेदार की तलाश में जुट गई है. मजदूरों के ठेकेदार गुल मोहम्मद को नोएडा पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, जबकि नाली की मरम्मत करने के ठेकेदार सुंदर यादव की तलाश अभी जारी है. सभी 12 मजदूर कॉन्ट्रेक्टर गुल मोहम्मद के अशोक नगर स्थित घर के बेसमेंट में रहते थे.

हादसे की जांच के लिए टीम का गठन

इनके अलावा, हादसे में बदायूं के एक मजदूर के पैर की हड्डी टूट गई, जिसका इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है. घायलों और मृतकों के परिजनों को सूचना दे दी गई है. हादसे की जांच के लिए टीम गठित की गई है. जिलाधिकारी सुहास एलवाई मौके पर पहुंचे और मामले की जांच के आदेश दिए हैं. श्रम विभाग की ओर से भी मामले का संज्ञान लिया गया है. अधिकारियों का कहना है कि जांच के बाद सभी दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.