रात थाने पहुँचे हरदा, दीपक ने दिया धरना तब छूटे कार्यकर्ता

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

भाजपा सरकार एवं मुख्यमंत्री के विरोध में काले झंडे लहरा रहे युवक कांग्रेस और एनएसयूआई की कार्यकर्ताओं को पुलिस ने काठगोदाम थाने में बिठा दिया था लेकिन शाम तक जब उन्हें रिहा नहीं किया गया तो इसकी भनक जैसे ही प्रदेश प्रवक्ता दीपक बलूटिया को लगी तो वह थाने में पहुंच गए।

उन्होंने इसकी सूचना हल्द्वानी में विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत कर रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को दी तो वह भी थाने पहुंच गए जिसके बाद उन्होंने पुलिस को इस मामले में सरकार की कठपुतली के तौर पर काम करने पर चेतावनी दी तो पुलिस हरकत में आई और उन्होंने तीनों युवा नेताओं का चालान कर उन्हें रिहा कर दिया।

दीपक बलूटिया ने पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से अपने अधिकारों के तहत विरोध प्रदर्शन कर रहे युवक कांग्रेस और एनएसयूआई के छात्रों के खिलाफ पुलिस दमन कर रही है जो कि वह सरकार के इशारे पर कर रही है उन्होंने कहा कि इस तरह से थाने में बिठाए रखना नाजायज है उन्हें या तो उनके खिलाफ मुकदमा लिखना चाहिए अथवा उनको चालान कर इन्हें रिहा करना चाहिए।

सरकार की नियत यह है कि आगामी दिवस कांग्रेस की विजय शंखनाद रैली को प्रभावित करने के लिए इन युवाओं को इसी तरह से थाने में बिठा के रखना है ताकि यह उसमें भागीदारी ना कर सकें और नेता इन को छुड़ाने में ही उलझे रहे। दीपक ब्लूटिया के धरने के बाद पुलिस ने युवकों को रिहा कर दिया।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *