उत्तराखंड एसटीएफ और पंजाब पुलिस ने संयुक्त रूप में की कार्यवाही, कुख्यात अपराधी गिरफ्तार,जानिए पूरा मामला

Ad
ख़बर शेयर करें

राज्य में अपराधियों को लेकर एक बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है बता दें कि उधम सिंह नगर जिले में एसटीएफ तथा पंजाब पुलिस के द्वारा संयुक्त रूप में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है और यहां पर उधम सिंह नगर जिले के कुंडेश्वरी क्षेत्र में गुलजारपुर गांव में तीन कुख्यात बदमाशों के साथ 4 लोगों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार करने का मामला सामने आया है बता दें कि इन अपराधियों के पास ऑटोमेटिक हथियार मौजूद थे और जैसे ही उन्होंने पुलिस को देखा तो उन्होंने तुरंत ही फायरिंग करनी शुरू कर दी तुम्हें जवाबी रूप में पुलिस के द्वारा भी ताबड़तोड़ फायरिंग की गई दोनों तरफ से दर्जनों गोलियां चलीं। जिसके बाद पुलिस ने तीन बदमाश और उनको शरण देने वाले फार्म हाउस के मालिक को भी गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि एसटीएफ की टीम में 16 तथा पंजाब पुलिस की टीम में 10 सदस्य थे।मामले में जानकारी देते हुए ऊधम सिंह नगर एसटीएफ की प्रभारी पूर्णिमा गर्ग ने बताया कि पंजाब के दो बदमाशों के कुंडेश्वरी के गुलजारपुर में एक फार्म हाउस में छिपे होने की सूचना मिली थी। पंजाब पुलिस काफी दिनों से इन बदमाशों की खोजबीन में लगी थी। आखिरकार उनकी मोबाइल लोकशन कुंडेश्वरी क्षेत्र में मिली जिस पर एसटीएफ और पंजाब पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए गुलजारपुर पहुची। जैसे ही पुलिस की टीमें मौके पर पहुंची बदमाशों ने अपने ऑटोमेटिक हथियरों से फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद पुलिस ने भी जबाव में गोलियां चलाईं।

दोनों ओर से लगभग दो दर्जन गोलियां चली और आखिरकार पंजाब पुलिस व एसटीएफऊधम सिंह नगर की टीम ने बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। हांलाकि दोनों ओर से कोई भी घायल नहीं हुआ है। बदमाशों के पास से पुलिस को दो आटोमैटिक पिस्टल और कारतूस भी बरामद किए हुए हैं।एसटीएफ प्रभारी पूर्णिमा गर्ग ने बताया कि गिरफ्तार किये बदमाशों में संदीप सिंह उर्फ भल्ला शिखू पुत्र अंग्रेज सिंह निवासी भटिंडा, पंजाब पर 7 गंभीर मुकदमें दर्ज हैं। वहीं, फतेह सिंह उर्फ युवराज पुत्र बलजिन्दर सिंह निवासी संगरुर, पंजाब पर 28 मुकदमे दर्ज हैं। ये दोनों बदमाश कुलवीर सिंह उर्फ बीरा उर्फ साधू सिंह निवासी नरुआना, भटिंडा पर गोली चलाकर फरार हो गये थे। इनके ऊपर कई आईपीसी धाराएं व आर्म्स एक्ट भटिंडा में दर्ज है। वहीं तीसरे बदमाश अमनदीप के विरुद्ध 9 मामले दर्ज हैं। ये तीनों बदमाश गुलजारपुर निवासी जगवन्त सिंह के फार्म हाउस में छिपे हुए थे।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *