Uttarakhand By-Election : बद्रीनाथ उपचुनाव दिन पर दिन हो रहा है दिलचस्प, अब छिड़ा नया सियासी संग्राम

ख़बर शेयर करें




उत्तराखंड की दो सीटों बद्रीनाथ और मंगलौर विधानसभा सीट पर होने वाला उपचुनाव हर रोज नया मोड़ ले रहा है। बात करें बद्रीनाथ सीट की तो धीरे-धीरे ये चुनाव काफी दिलचस्प होता जा रहा है। बद्रीनाथ में कांग्रेस और बीजेपी के प्रत्याशी के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है।

Ad
Ad

उत्तराखंड की बद्रीनाथ और मंगलौर विधानसभा सीट पर कांग्रेस और बीजेपी प्रत्याशियों ने नामांकन कर लिया है। इसी के साथ ही मंगलौर और बद्रीनाथ विधानसभा सीट पर भाजपा और कांग्रेस पूरे दमखम के साथ मैदान में उतर चुकी है। दोनों ही दलों ने अपनी अपनी टीम में दोनों सीटों पर मुस्तैद कर दी हैं। इसके साथ ही दोनों पार्टियां प्रचार में जुट गई हैं। इसके साथ ही बसपा ने भी अपनी कमर कस ली है।

बद्रीनाथ सीट पर छिड़ा नया सियासी संग्राम
बद्रीनाथ विधानसभा सीट की बात की जाए तो बद्रीनाथ विधानसभा सीट पर एक नया सियासी संग्राम छिड़ चुका है। ये सियासी संग्राम भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र भंडारी की पत्नी रजनी भंडारी को लेकर छिड़ा है। बता दें कि रजनी भंडारी कांग्रेस पार्टी के नेत्री है और वर्तमान में कांग्रेस से ही जिला पंचायत अध्यक्ष भी हैं।

बात करें राजेंद्र भंडारी की तो उन्होंने भी 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सिंबल पर ही चुनाव जीता था। लेकिन लोकसभा चुनाव के दरमियान राजेंद्र भंडारी ने भाजपा पार्टी का दामन थाम लिया। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें बद्रीनाथ से अपना प्रत्याशी बनाया है। ऐसे में अब बस इसको लेकर छिड़ी है कि रजनी भंडारी पति या फिर पार्टी किसको समर्थन करेगी ?

रजनी भंडारी दोनों पार्टियों के लिए बन सकती है चुनौती
रजनी भंडारी भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों के लिए चुनौती बन सकती है। इसी को लेकर भाजपा और कांग्रेस के सियायसी तरकश से जुबानी बाण निकल रहे हैं। भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री आदित्य कोठारी ने खुले तौर पर कहा है कि भाजपा के सामने कोई चुनौती नहीं है और रजनी भंडारी भी बीजेपी का ही समर्थन करेंगी। आदित्य कोठारी ने ये भी कहा है कि रजनी भंडारी को भाजपा में शामिल करने को लेकर भी पार्टी विचार करेगी।

इसको लेकर कांग्रेस ने भी भाजपा पर तीखा पलटवार किया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा का कहना है कि रजनी भंडारी अगर भाजपा के लिए काम करेंगी तो करें लेकिन भारतीय जनता पार्टी पहले उन्हें अपनी पार्टी में ज्वाइन तो कराए। करन माहरा ने कहा कि भाजपा रजनी भंडारी को पार्टी ज्वाइन क्यों नहीं करा रही है। वो ज्वाइन क्यों नहीं कर पा रहीं है इसका जवाब राजेंद्र भंडारी को देना चाहिए।