हरक के चेहते माने जाने वाले दो आईएफएस पर गाज गिरनी तय, जबरन घर बैठाने की तैयारी मंत्री ने फाइल पहुंचाई सीएम तक

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

वन विभाग में अवैध निर्माण अवैध कटान तथा अन्य अनियमितताओं के आरोप में घिरे 2 आईएफएस पर गाज गिरनी तय है । वन विभाग प्रारंभिक जांच में इन पर लगे आरोपों को सही पाया है। अब यह मामला काफी बड़े स्तर तक पहुंच चुका है।।

वन मंत्री सुबोध उनियाल ने इन दोनों अधिकारियों के खिलाफ जबरन सेवानिवृत्ति का आदेश कर फाइल मुख्यमंत्री तक पहुंचा दी है। देर से सवेर उन पर कार्रवाई होनी है माना जा रहा है यह दोनों आईएफ़एस पूर्व में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह के के करीबी माने जाते हैं।

हरक सिंह के भाजपा से चले जाने के बाद वन विभाग ने इन पर कार्रवाई करने का मन बनाया है इन पर कई ऐसे आरोप लगे हैं जिनमें बिना बजट और बिना स्वीकृति किए निर्माण कार्य हुए हैं। इन दोनों अधिकारियों में से एक अधिकारी कुमाऊं मंडल में तथा एक अधिकारी गढ़वाल मंडल में तैनात थे। हरक सिंह के मंत्री रहते हुए इन पर अवैध कटान के अलावा अवैध निर्माण की भी आरोप लगे हैं जो कि प्रारंभिक जांच में सही पाए गए हैं।

वन मंत्रालय का जिम्मा मिलने के बाद सुबोध उनियाल ने उच्च अधिकारियों से रिपोर्ट तलब करने के बाद अभी से मुख्यमंत्री के पास भेज दिया है मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार की स्वच्छ छवि को देखते हुए इन पर कार्रवाई करने का मन बना चुके हैं। हालांकि एक अधिकारी ने वीआरएस का आवेदन किया था लेकिन मंत्री ने उनके इस आवेदन को खारिज कर दिया है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.