अग्निवीर योजना का विरोध कर रहे युवाओं से सीएम धामी ने किया यह वायदा

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

भारत सरकार द्वारा युवाओं को सेना में भर्ती करने की अग्निवीर योजना का अब उत्तराखंड में भी व्यापक स्तर पर विरोध शुरू हो गया है।

सीमांत जिला पिथौरागढ़ जहां से 60% से अधिक युवा फौज की नौकरी में जाते हैं से भी विरोध की लहरें उठने लगी है युवाओं ने पिथौरागढ़ में मुख्य बाजार में जाम लगा दिया था जिसस पिथौरागढ़ शहर थम गया पिथौरागढ़ से चारों तरफ को जाने वाले मार्ग में वाहन जहां के तहां फस गए।

वही सीएम पुष्कर धामी ने रक्षा मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही अग्नि भी योजना का बचाव करते हुए कहां की इसमें 25% को स्थायीकरण मिलेगा तथा शेष सभी लोगों को उत्तराखंड में विभिन्न सेवाओं में प्राथमिकता के तौर पर लिया जाएगा जिनमें प्रमुख रूप से उत्तराखंड पुलिस, एनडीआरफ एसडीआरएफ मैं नियुक्त किया जाएगा।

दामिनी केन्द्र की अग्निपथ योजना की तारीफ की और कहा कि अग्निवीरों को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी.केन्द्र सरकार की अग्निपथ भर्ती योजना को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एक बार फिर इस योजना की तारीफ करते हुए बड़ा एलान किया है. उ

न्होंने कहा कि चार साल सेना में सेवा के बाद इन अग्निवीरों सरकारी विभागों में नौकरी में प्राथमिकता दी जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे युवकों को उत्तराखंड पुलिस, आपदा प्रबंधन और राज्य के चार धाम प्रबंधन में शामिल किया जाएगा.।

आपको बताते चलें मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का यह बयान उस समय आया है जब विपक्षी पार्टी कांग्रेस और अन्य दल अग्निपथ स्कीम में खामियां निकालते हुए यह तर्क दे रहे हैं कि 4 साल के बाद युवा बेरोजगार हो जाएगा , जिसके जवाब में सीएम धामी ने प्रमुखता के साथ यह बात कही है कि सेना में 4 साल बाद कार्यमुक्त होते ही अग्निवीरों को प्राथमिकता के आधार पर सरकारी नौकरियों  दी जायेगी।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.