आवारा पशुओं के जमावड़े इस तरह से लोगों की बड़ी दिक्कतें

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

आवारा पशुओं के ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में जहां-तहां खड़े रहने से यातायात व्यवस्था में काफी दिक्कतें आने लगी है। शहर के मुख्य चौराहों के अगल बगल बड़ी मात्रा में पशु इकट्ठे हो जा रहे हैं पैदल चलने और वाहन चालकों को दिक्कत हो रही है ।

कई बार यह पशु दुर्घटना के कारण बन जाते हैं इनसे इन पशुओं के चोटिल होने की संभावनाएं बनी रहती है उसके बाद यह चोटिल होकर इधर-उधर घूमते रहते हैं और कई तरह की बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं। नगर निगम और पशुपालन विभाग के पास इन पशुओं के रहने और चारे की व्यवस्था नहीं है जबकि लोगों ने उन्हें आवारा छोड़ रखा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी ऐसे पशुओं ने किसानों की दिक्कतों को बड़ा कर रख दिया है यह खेतों में घुसकर उनकी फसल को लगातार नुकसान कर रहे हैं जिसकी वजह से ग्रामीण क्षेत्रों के किसानों को अपने खेतों में तार बाड़ कर हजारों रुपए खर्च करने पड़े इसके बावजूद भी इनका लगातार आना-जाना जारी है ।

आवारा पशु से परेशान लोग क्या कह रहे हैं सुनें

ग्रामीण क्षेत्रों में भी यह कई लोगों को चोटिल कर चुके हैं। चौराहों पर खड़े होने से कई बार इनके चोटिल होने तथा वाहन चालक के भी नुकसान होने की संभावनाएं बढ़ रही है।

शहर में आवारा पशुओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, ऐसे में आवारा पशु राहगीरों के लिए परेशानियों का सबब बने हुए हैं, इतना ही नहीं शहर में आवारा पशुओं के कारण कई दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं।


आवारा पशुओं का सबसे ज्यादा आतंक नगर निगम क्षेत्र के हल्द्वानी नैनीताल राष्ट्रीय राजमार्ग पर देखा जा रहा है. जहां झुंड के झुंड पशु सड़कों पर खड़े दिखाई दे रहे हैं, पशुओं द्वारा सड़क पर कब्जा किए जाने के चलते सबसे ज्यादा वाहन चालकों को परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है, जिसके चलते सड़कों पर जाम की स्थिति बन जाती है, यही नहीं रात के अंधेरे में भी पशुओं का झुंड सड़क पर कब्जा जमा कर बैठे रहते हैं, जिससे अंधेरे में वाहन चालक पशुओं से टकरा जाते हैं, जिसके चलते कई हादसे भी हो चुके हैं.
वही बीते दिनों कालाढूंगी छेत्र मे एक महिला को गली से गुजर रहे सांड ने घर के बाहर ही पटक पटक कर मार डाला। महिला की मौत से उसके चार बच्चों के सिर से मां का साया उठ गया।


वही इस सब को लेकर हलद्वानी नगर निगम के नगर आयुक्त, पंकज उपाध्याय, रटारटाया जवाब देते हुए नजर आ रहे है, उनका कहना है कि आवारा पशुओं से निजात दिलाने के लिए नगर निगम प्रयास कर रहा है, लोगो के सड़को में कूड़ा डालने के कारण आवारा पशु सैकड़ो में आ रहे है इसलिए सड़को में कूड़ा न डाले तो वही जब उनसे आवारा पशुओं को पकड़ने के बारे में पूछा गया तो उनका कहना था कि नगर निगम के द्वारा लगातार आवारा पशुओं को पकड़ा जा रहा है । लेकिन पूरे सहर में बड़ी संख्या में घूमते दिख रहे आवारा पशु नगर आयुक्त की बात पर सवालिया निशान जरूर खड़े कर रहे है । नगर निगम के अधिकारी हमेशा तर्क देते हैं कि आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए समय-समय पर अभियान चलाया जाता है। लेकिन ये कितना सच है इस बात का अंदाजा सड़क में घूम रहे आवारा पशुओं को देख कर लगाया जा सकता है ।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.