पेट्रोल मिलेगा इतना सस्ता, याद आ जाएंगे 90 के दशक वाले दाम

ख़बर शेयर करें


पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं. लोगों की जेब पर भार पड़ गया है। महंगाई बढ़ती जा रही है। यूक्रेन रुस के बीच चल रहे युद्ध के बीच खबरें आ रही है कि भारत में पेट्रोल डीजल के दाम और बढ़ सकते हैं। पेट्रोल भरवाते समय हमेशा हम सोचते हैं कि पहले पेट्रोल कितना सस्ता मिलता था। काश वो 90 के दशक वाला जमाना फिर से लौट आता, जहां तेल इतना सस्ता मिलता था।


बता दें कि वाहन चालको के लिए खुशखबरी है। मोदी सरकार ने एक खास तैयारी शुरू की है जिसकी वजह से पेट्रोल के दाम में भारी कमी आ जाएगी। आप पेट्रोल पंप जाएंगे तो आपको वही 90 के दशक वाले रेट के हिसाब से ही पेट्रोल मिलेगा। इसको लेकर क्या है मोदी सरकार की तैयारी। आईये जानिए। देश में लगातार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। भारत कच्चे तेल के लिए पूरी तरह से खाड़ी देशों पर निर्भर है। ऐसे में दाम कम या ज्यादा अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ही तय हो पाते हैं। कच्चा तेल महंगा हुआ तो दाम में भी इजाफा हो जाएगा। अगर कच्चा तेल सस्ता हुआ तो भारत में भी पेट्रोल सस्ता हो जाएगा।


ये है सरकार की तैयारी
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी है कि छह महीने के अंदर ही फ्लैक्स फ्यूल वाले वाहनों का विनिर्माण शुरू हो जाएगा। मंत्री का कहना है कि इसके लिए ऑटोमोबाइल कंपनियों के बड़े अफसरों ने उनसे वादा भी कर दिया है। शनिवार को ‘ईटी ग्लोबल बिजनेस समिट’ को उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस से संबोधित किया।


क्या होता है फ्लैक्स फ्यूल
गडकरी का कहना है कि भारत में ज्यादातर वाहनों को 100 फीसदी एथेनॉल से चलाया जाएगा। आपको बता दें कि पेट्रोल में 20 फीसदी एथेनॉल मिलाने पर ब्लैंडेड फ्यूल बनता है। ये सामान्य पेट्रोल की तुलना में आधी कीमत पर मिलता है। गडकरी का कहना है कि सार्वजनिक परिवहन को 100 फीसदी स्वच्छ ऊर्जा से चलाने की योजना है।ेे
अब आपको कुछ समय का इंतजार करना है। फिर आप आराम से अपने वाहनों से फर्राटा भर सकेंगे और पेट्रोल भी आपको सस्ता मिलेगा। इसके लिए मोदी सरकार ने तैयारी कर ली है और आपको रेट ऐसे मिलने लगेंगे कि 90 के दशक वाला जमाना आपको याद आ जाएगा। मोदी सरकार की तैयारियों के बारे में नितिन गडकरी ने बताया है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.