तस्कर को भगाने के मामले में जांच के दौरान कांस्‍टेबल को आया हार्ट अटैक, अस्‍पताल में फूट फूटकर रोने लगे DSP

ख़बर शेयर करें

डूंगरपुर, । राजस्‍थान की डूंगरपुर पुलिस के 30 वर्षीय कांस्‍टेबल किरीट भट्ट की हार्ट अटैक से मौत हो गई। अटैक उस वक्‍त आया जब वे डीएसपी नरपत सिंह साथ एक मामले की जांच के लिए रतनपुरा चौकी आए थे। हार्ट अटैक आने के बाद कांस्‍टेबल को अस्‍पताल ले जाया गया, जहां चिकित्‍सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कांस्‍टेबल के मौत की खबर सुनकर डीएसपी अस्‍प्‍ताल में ही फूट फूटकर रोने लगे।

Dungar Police

बता दें कि डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा पुलिस थाना इलाके में 29 अगस्‍त 2022 को शराब से भरा ट्रक पकड़ा गया था। मामले में एसपी ने शराब तस्करी कर रहे ट्रक चालक को भगाने के आरोप में एएसपी अनिल मीणा, थानाधिकारी रणजीत सिंह, आबकारी अधिकारी हरीश रोलन और जिला कोषाधिकारी सहित 5 अधिकारी और पुलिसकर्मी सस्पेंड हो चुके हैं।

पूरे मामले की जांच सागवाड़ा डीएसपी नरपत सिंह को दी गई थी। उसी मामले की जांच के लिए डीएसपी नरपत सिंह व कांस्‍टेबल किरीट भट्ट अन्‍य साथियों के साथ आए थे। रतनपुर चौकी में पुलिसकर्मियों के बयान दर्ज करने के बाद डीएसपी जाने की तैयारी कर रहे थे। उसी समय अचानक कांस्टेबल किरीट भट्ट की तबीयत बिगड़ गई। किरीट के हाथ-पैर मुड़ने लग गए और वह जमीन पर गिरने जैसा हो पास में ही खड़े हेड कांस्टेबल सुशील कुमार और कांस्टेबल वसीम खान ने उसे पकड़ा।

डीएसपी नरपत सिंह उसे अपनी कार से बिछीवाड़ा अस्पताल लेकर गए। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे डूंगरपुर अस्‍पताल में रेफर किया गया। डूंगरपुर हॉस्पिटल में फिजिशियन डॉ. आजेश डामोर ने बताया कि बिछीवाड़ा अस्‍पताल से कांस्‍टेबल को गंभीर हालत में लेकर आए थे। काफी प्रयासों के बावजूद हम कांस्‍टेबल को बचा नहीं सके।

कांस्‍टेबल की मौत की खबर मिलते ही डीएसपी के आंसू नहीं रुके। फूट फूटकर रोते हुए डीएसपी ने बताया कि किरीट मेरा सबसे लाडला सिपाही था। किरीट के परिवार में उसकी पत्नी और 6 महीने का एक बच्चा है। सूचना पर एसपी राशि डोगरा भी अस्पताल पहुंची और पूरी घटना की जानकारी ली। शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया गया है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.