ब्रेकिंग -मंडी समिति के आवासों की मरम्मत के नाम पर घोटाले पर बैठी जांच# corptioninmandi

ख़बर शेयर करें

Haldwaninews एसकेटी डॉटकॉम

मंडी परिषद का घोटालों के साथ चोली दामन का साथ रहा है कई घोटाले हुए हैं जांच के नाम पर लंबा समय दान दिया जाता है जांच के बाद फिर लीपापोती होती है लेकिन फिर भी घोटाले लागातार प्रकाश में आते रहते हैं.

अभी वर्तमान में हल्द्वानी में मंडी परिषद के कर्मचारियों के हल्द्वानी स्थित आवासों में रिपेयरिंग के नाम पर लाखों का वारा न्यारा हुआ है इस संबंध में लाल कुआं के सामाजिक कार्यकर्ता जाहिद अली ने मंडी इस संबंध में मंडी के महा महाप्रबंधक से इस बारे में शिकायत की थी उसके बाद महाप्रबंधक ने इसकी जांच के आदेश दिए थे

लेकिन जांच आगे नहीं बढ भी नहीं पाई थी सितम्बर में आए मामले की जांच होती इससे पहले इसके सदस्यों में बदलाव कर दिया गया. महाप्रबंधक तकनीकी देहरादून के स्थान पर उप महाप्रबंधक हल्द्वानी, तथा उप महाप्रबंधक विद्युत यांत्रिकी के स्थान पर अवर अभियंता विनोद कुमार को इसका सदस्य बनाया गया है. सूत्र यह भी बताते हैं कि निर्माण के नाम पर आई रकम का इस्तेमाल किसी एक कर्मचारी के मकान नहीं खर्च कर दिया है इसके अलावा कई अधिकारी अपने आप को एमडी के रिश्तेदार होने का झांसा देकर अन्य पर रौब झाड़ते हैं

फिलहाल इस मामले की जांच के लिए 3 नवंबर को बैठक उप महाप्रबंधक कार्यालय हल्द्वानी किए जानें की की बात कही गई है.. मंडी परिषद के द्वारा किए गए कार्य कहीं न कहीं गड़बड़ी की शिकायतें आती रहती है ऐसा ही एक मामला सुर्खियों में आया था जब कमलूवागाजा एक गांव में रोड़ की गुणवत्ता को लेकर भाजपा युवा मोर्चा के नेता विपिन पाण्डेय की शिकायत पर काफ़ी उछला था. पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता, एसडीएम को जांच समिति का सदस्य बनाया था जिसके बाद अभी तक इस सड़क के निर्माण पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है ऐसे ही कई मामले आए हैं जिनमें मंडी परिषद की कार्यप्रणाली हमेशा ही संदेह के दायरे में आई है

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.