जीरो जोन में तब्दील हुआ पूर्णागिरि मंदिर का इतने मीटर का दायरा

ख़बर शेयर करें

पूर्णागिरि धाम के मुख्य मंदिर के 100 मीटर का क्षेत्र को जीरो जोन में तब्दील कर दिया गया है। इस क्षेत्र में गैर धार्मिक गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा।

Ad
Ad

चंपावत के प्रसिद्ध धाम मां पूर्णागिरि धाम के मुख्य मंदिर के 100 मीटर के दायरे को जीरो जोन बनाया गया है। जीरो जोन बनाए जाने के बाद इस क्षेत्र के अंतर्गत सिर्फ पूजा-अर्चना और धार्मिक गतिविधियां ही की जा सकेंगी। मेला मजिस्ट्रेट टनकपुर के एसडीएम सुंदर सिंह द्वारा इसके लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं।

गैर धार्मिक गतिविधियों पर रहेगा प्रतिबंध
मुख्य मंदिर का 100 मीटर के क्षेत्र में बने जीरो जोन में किसी भी तरह की गैर धार्मिक गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा। इस दायरे में सीढिय़ों से लेकर मुख्य मंदिर तक के क्षेत्र में दुकान या दुकान के अलावा कोई कारोबारी गतिविधियां नहीं की जा सकेंगी।

मिली जानकारी के मुताबिक धाम में लगातार तीर्थ यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। जिस कारण जाम लगने से लोगों को असुविधा हो रही है। इसी के चलते ये फैसला लिया गया है।

ध्वनि विस्तारक का नहीं होगा उपयोग
एसडीएम की ओर से जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि भैरव मंदिर से मुख्य मंदिर तक धार्मिक भजन के अलावा किसी भी प्रकार के ध्वनि विस्तारक का उपयोग नहीं किया जा सकेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि आदेश का उल्लंघन करने पर आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जल्द ही धाम में सालभर संचालित होगा मेला
मां पूर्णागिरि धाम में जल्द ही पूरे साल मेले का संचालन किया जाएगा। वर्तमान में ये मेला तीन महीने के लिए संचालित किया जाता है। इसके साथ ही मेले की अवधि में बदलाव के साथ ही आयोजन समिति में भी बदलाव के संकेत हैं। पूर्व में सीएम धामी ने मेले के सालभर संचालन के लिए घोषणा की थी