मौसी के घर से लौट रही थी नाबालिग, पड़ोस के युवक को दी थी सुरक्षित पहुंचाने की जिम्मेदारी, आबरू लूट हुआ फरार

ख़बर शेयर करें

पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार के प्रखंड रिखणीखाल से शर्मनाक खबर सामने आ रही है। मौसी के घर से नाना के हर लौट रही नाबालिग की जिम्मेदारी मौसी ने पड़ोस के जिस युवक को दी थी। उसी युवक ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म कर बच्ची को छोड़ फरार हो गया। मामला प्रकाश में आने के बाद राजस्व पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर युवक की तलाश शुरू कर दी है।

Ad
Ad


जानकारी के मुताबिक कोटद्वार निवासी नौ वर्षीय नाबालिग अपने परिजनों के साथ रिखणीखाल में अपने नाना के घर गई हुई थी। एक सप्ताह पहले वह नाना के घर से प्रखंड क्षेत्र में ही अपनी मौसी के घर चली गई। शुक्रवार को नाबालिग अपनी मौसी के साथ नाना के घर लौटने के लिए बस में बैठी। बस में नाना के ही गांव का विक्रम सिंह नाम का एक युवक बैठा हुआ था।

बस से उतारकर जंगल में ले जाकर लूटी आबरू
नाबालिग की मौसी सौलखांद बस अड्डे पर उतर गई। नाबालिग की मौसी ने उसे सुरक्षित नाना के घर पहुंचाने की जिम्मेदारी बस में बैठे पडोसी युवक विक्रम को दी। जानकारी के मुताबिक राजस्व निरीक्षक प्रीतम सिंह ने बताया कि नाना के घर से करीब दो किमी पहले युवक ने उसे बस से उतरने और शार्टकट रास्ते से ले जाने की बात कही। नाबालिग युवक की बात पर भरोसा कर बस से उतर गई।

आबरू लूट किशोरी को रास्ते में छोड़कर आरोपी फरार
युवक किशोरी को जंगल की ओर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म कर युवक उसे जंगल से रास्ते तक लाया और उसे वहीं छोड़ फरार हो गया। शाम तक भी जब किशोरी नाना के घर नहीं लौटी तो स्वजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। किशोरी का मामा उसे ढूंढ़ने के लिए निकला तो गांव से करीब दो किमी पहले किशोरी रास्ते में मिल गई। घर पहुंचकर किशोरी ने स्वजनों को आपबीती सुनाई।

आरोपी युवक की तलाश जारी
गुस्साए स्वजनों ने आरोपी विक्रम के खिलाफ तहरीर दी है। जानकारी के मुताबिक मामले को लेकर कानूनगो ओमप्रकाश भटगई ने बताया की आरोपी की तलाश की जा रही है। मामला रेगुलर पुलिस को सौंपने के लिए उपजिलाधिकारी के माध्यम से जिलाधिकारी को पत्र भेज दिया गया है।