बड़ी खबर-साजिश के तहत जलाई गई दरोगा भर्ती परीक्षा की OMR शीट

ख़बर शेयर करें



दरोगा भर्ती घोटाले की जांच कर रही विजिलेंस ने बड़ा खुलासा कर दिया है। पता चला है कि दरोगा भर्ती परीक्षा से जुड़ी OMR शीट्स को साजिश के तहत जलाया गया था। अब विजिलेंस इस मामले में जल्द ही कुछ अन्य गिरफ्तारियां कर सकती है।


2015 में हुई दरोगा भर्ती परीक्षा की जांच कर रही विजिलेंस की जांच तेज हो गई है। इसी जांच के तहत पता चला है कि पंतनगर विश्वविद्यालय में दरोगा भर्ती परीक्षा की OMR शीट्स को साजिश के तहत जला दिया गया था। ओएमआर शीट्स को नष्ट करने के लिए जिन नियमों का पालन करना होता है वो भी नहीं किया गया था। विजिलेंज जांच के मुताबिक ओएमआर शीट्स को नष्ट करने के लिए एक निश्चित प्रक्रिया का पालन करना होता है।

एक कमेटी बनती है, ये कमेटी रिपोर्ट देती है और इसपर अधिकारियों के हस्ताक्षर होते हैं। तब कहीं जाकर ओएमआर शीट्स नष्ट की जाती हैं। हालांकि इस मामले में जो सहमति आदेश है उसमें कई अहम अधिकारियों के हस्ताक्षर ही नहीं हैं। इसके बावजूद ओएमआर सीट्स को जलाया जाना साफ तौर पर साजिश का इशारा है।


आपको बता दें कि 2015 में 339 दरोगाओं की भर्ती हुई थी। आरोप थे कि कम से कम दस फीसदी दरोगा ओएमआर शीट में गड़हबड़ी कर शामिल हुए हैं। धामी सरकार बनने के बाद इस मामले में जांच हुई तो 12 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.