जानिए कौन था शातिर गैंगस्टर कलीम का खास मददगार,हमारी इस रिपोर्ट में

Ad
ख़बर शेयर करें

अल्मोड़ा पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त कार्रवाई के बाद जब अल्मोड़ा जेल में छापा मारा गया उसमें पता चला कि शातिर गैंगस्टर कलीम के बाहरी राज्यों में ही नहीं बल्कि अल्मोड़ा में भी कई मददगार थे। जांच के दौरान पता चला है कि अल्मोड़ा निवासी अतुल वर्मा कलीम के खास मददगारों में एक था। जो जेल में उसे सभी सुख सुविधाएं मुहैया कराता था। इसके साथ ही जेल का चालक ललित मोहन भट्ट भी उसके काले कारनामों के उसकी पूरी पूरी मदद कर रहा था। वह रंगदारी की रकम अपने खातों में मंगवाता और उसे कलीम तक पहुंचाने का काम करता।गत दिवस को अल्मोड़ा जेल में एसटीएफ और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई के बाद जो बातें सामने आई वह चौकानें वाली थी। जेल के अंदर से जहां गैरकानूनी सामान मिला वहीं यहां से एक खतरनाक गिरोह को संचालित किए जाने का भी खुलासा हुआ। जांच के दौरान पाया गया कि अल्मोड़ा निवासी अतुल वर्मा नाम का एक व्यक्ति कलीम के खास मददगारों में एक था। वह जेल के छोटे कर्मचारियों को लालच देता और गैरकानूनी सामाल जेल के अंदर भेजता था। जेल का चालक लमगड़ा निवासी ललित मोहन भट्ट भी कलीम के गुनाहों में साझीदार था। वह रंगदारी की रकम अपने खाते में मंगाता था और उसके कलीम तक पहुंचाता था। कैदी महिपाल भी कलीम की इन गतिविधियों को अंजाम देने में उनकी पूरी पूरी मदद करता था।

मंगलवार को अतुल वर्मा का नाम सामने आने के बाद जहां उसकी धरपकड़ को अभियान तेज कर दिया गया है। वहीं चालक ललित को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। कैदी महिपाल के खिलाफ भी पुलिस ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया है। इधर इस पूरे मामले में जेल प्रशासन की कार्यप्रणाली को शक के दायरे में रखते हुए महानिरीक्षक जेल पुष्पक ज्योति ने जेल अधीक्षक संजीव कुमार हयांकी, प्रधान बंदी रक्षक शंकर राम आर्य, बंदीरक्षक प्रदीप माजिला, राहुल राय को तत्काल प्रभाव से निलंबित भी कर दिया है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *