मां के नक्शे कदम पर चलते हुए कोई गलती हो तो तुरंत टोके- सुमित

ख़बर शेयर करें

अंकुर सक्सेना।हल्द्वानी के मटर गली में स्थित स्वराज आश्रम में आज हल्द्वानी से कांग्रेस के प्रत्याशी सुमित हृदयेश का कांग्रेसियों के द्वारा एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया जिसमें सुमित हृदयेश के द्वारा केंद्र नेतृत्व में जो उनके ऊपर अपना भरोसा जताया और उन्हें हल्द्वानी से प्रत्याशी तौर पर टिकट दिया इसके लिए उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व का धन्यवाद किया और साथ ही इंदिरा के द्वारा किए गए कार्यों को याद किया इसे मैं सुमित ने आगे कहा कि उनकी माताजी ने समय से पहले कभी भी कोई घोषणा नहीं की।

और जो भी कार्य किया वह जनता के सामने आई और उनके साथ ही सारे काम किए इसमें सुमित ने कहा कि कभी भी उनकी माताजी ने मोदी की तरह कोई चुनावी घोषणा नहीं की जिसके बाद सुमित ने कांग्रेस के सभी साथियों का धन्यवाद किया जिसमें उन्होंने 6 से 7 महीने के अंदर कांग्रेस के नाम को जगह-जगह तक पहुंचाया है बता दें कि सुमित ने कहा कि कांग्रेस कभी भी मतभेद नहीं करती और उनकी माताजी को जिस प्रकार से आयरन लेडी का नाम उनके कार्यों के द्वारा किया गया था क्योंकि उन्होंने हमेशा लड़ाई जमीन तौर पर लड़ाई और मृत्यु के दौरान भी परिवर्तन यात्रा के बारे में माताजी सोच रही थी क्योंकि सुमित ने बताया कि उनकी मां एक कर्मयोगी महिला रही है जिसके बस हम इतना कहा कि वह हमेशा कांग्रेस परिवार के ऋणी रहेंगे और वह कभी भी इस कारण नहीं चुका सकते वह बात अलग है।

किस्तों में इसे छुपाने का प्रयास करेंगे सुमित ने कहा कि मां के नक्शे कदम पर चलते हुए यदि उनसे कभी गलती हो जाए तो वह ने तुरंत टोक दे। क्योंकि हमारा रिश्ता चुनावी नहीं बल्कि आजीवन भर का है और इस रिश्ते में कोई भी दरार नहीं डाल सकता इसी बैठक में सब इतना आगे कहा कि हल्द्वानी कांग्रेस परिवार मैं मुखिया के रूप में मैं नहीं बल्कि आप सब परिवार के लोग मुखिया हैं और यदि कभी भी मुझसे कोई गलती हो तो आप लोग अवश्य मुझे मेरी गलती बताओ जिससे कि मैं अपनी भूल सुधार सकू। और यदि कोई भी व्यक्ति यह सोचता है कि वह 1 दिन में इंदिरा बन सकता है तो वह कभी ऐसा नहीं कर सकता क्योंकि इंदिरा हृदयेश ने जमीनी हकीकत में रहकर हल्द्वानी शहर को बसाया है और जमीनी तौर पर उन्होंने सारे कार्य किए। बता दें कि 27 जनवरी को सुमित अपना नामांकन करेंगे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.