यहां युवती को लिफ्ट देना पड़ा महंगा, बाइक सवार को अपने जाल में फंसाकर लूट लिये सारे पैसे

ख़बर शेयर करें

गिरिडीह : गिरिडीह जिला के मकदपुर निवासी धीरज कुमार भदानी को एक युवती को लिफ्ट देना महंगा पड़ गया. उक्त युवती ने उसे जाल में फंसाकर अपहरण कर एक कमरा में बंद कर दिया. उसके पास मौजूद रुपये और सोने की चेन छीन ली. उसके साथ मारपीट भी की गयी. धीरज के परिजन को फोन कर 50 हजार रुपये मांगे, लेकिन पुलिस की तत्परता के कारण मामले में शामिल दो महिलाओं महिला सरीता देवी व सीमा कुमारी को गिरफ्तार कर लिया गया. धीरज एसएनएमएमसीएच में इलाजरत है.

धीरज ने पुलिस को बताया कि रविवार को वह अपने रिश्तेदार से मिलने के लिए बाइक से धनबाद आ रहा था. इस दौरान गोविंदपुर के पास एक युवती आयी और गिड़गिड़ाते हुए कहा : भाई साहब मेरी बेटी बहुत बीमार है. उसकी दवा लेनी है. दवा खरीदने के पैसे नहीं है. इसके बाद मैंने तरस खा कर उसे दवा खरीदने के लिए तीन सौ रुपये दिये.

वह मेडिकल स्टोर से दवा लेकर आयी और करीब चार-पांच किलोमीटर दूर घर छोड़ने का आग्रह करने लगी. मैंने उसे अपनी बाइक पर बैठा लिया. दोपहर डेढ़ बजे वह एक बीसीसीएल के क्वार्टर ले गयी. वहां पानी पीने का आग्रह किया. वह बैठकर पानी पीने लगा, तभी एक युवक आया और गाली ग्लौज करते हुए कहा : तुम क्या कर रहे थे, गलत काम करते हो.

इतना सुन लड़की भाग निकली. इसके बाद उक्त युवक उसके साथ मारपीट करने लगा. देखते-देखते उसके दो तीन अन्य साथी भी आ गये. उन्होंने भी मारना पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान उसके पास से सात हजार रुपये, मोबाइल फोन, सोने का चेन, अंगूठी जबरन छीन लिया. धमकी देते हुए कहने लगा : बेटा अभी और पैसा चाहिए, अगर नहीं मिली तो तुम्हारे टुकड़े टुड़के कर खदान में फेंक देंगे.

इसी बीच एक महिला साड़ी पहने हुए आयी और चीख चीख कर गाली देते कहा कि तुमने मेरी बेटी की इज्जत लूटी. इसकी शादी कैसे होगी. वहां मौजूद सभी युवक बोलने लगा कि इसका निर्वस्त्र वीडियो बनाओ, इसके बाद सभी ने मेरा कपड़ा फाड़ना शुरू कर दिया. मैंने विरोध करना चाहा, तो सभी मारने लगे. मेरा नग्न वीडियो बना लिया.

मैंने लोकलाज के डर से फोन पे के माध्यम से 12 हजार रुपये तथा 17 हजार रुपये, सोने की अंगूठी, घड़ी दे दिया. इससे बाद भी उन्होंने मुझे बंधक बनाकर रखा. इसके बाद उक्त महिला मेरा वीडियो वायरल नहीं करने तथा शादी के लिए पांच लाख रुपये मांगने लगी. इसके बाद मैंने अपने जीजा संजय कुमार गुप्ता के पास फोन लगा पैसा लेकर आने को कहा. मेरे जीजा से बात होने के बाद उन्होंने मुझे कलाम चौक के पास छोड़ दिया. दोनों महिलाएं पैसे लेने के लिए रणधीर वर्मा चौक पहुंची. वहां पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया.

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.