यहाँ खनन व्यवसायियों ने विधायक समेत सत्तापक्ष पर उपेक्षा का लगाया आरोप, परिवहन विभाग के खिलाफ कल यहां होगा धरनादेखें वीडियो

ख़बर शेयर करें

लालकुआं /मोटा हलदू एसकेटी डॉटकॉम

३महीने से आंदोलन कर रहे खनन व्यवसायियों ने सरकार समेत विधायक पर उपेक्षा पूर्ण व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रॉयल्टी कम करने के के बावजूद उनका उत्पीड़न जारी है खनन सत्र काफी छोटा रह गया है.

ऐसे में परिवहन विभाग द्वारा उन पर लादा जा रहा जजिया कर अभी तक जारी है. व्यवसायों द्वारा अपने वाहन सरेंडर से बाहर निकाले जाने के बाद भी ऑनलाइन इनकी वाहन बाहर निकाल दिए गए हैं और उनसे क्वार्टरली टैक्स लिया जा रहा है और जिस वाहन न का परमिट टूट चुका है उससे ₹50 प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना भी वसूला जा रहा है.

खनन व्यवसायियों ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि उनके वाहन खड़े हैं फिर भी उनसे टैक्स लिया जा रहा है. उन्होंने कहा है यह तो वन विभाग द्वारा अपनी रॉयल्टी कम की गई है  परिवहन विभाग द्वारा उनका उत्पीड़न अभी भी जारी है.

सरकार सब कुछ जानती है फिर भी वह उनके उत्पीड़न से बाज नहीं आ रही है. व्यवसायियों ने कल आरटीओ कार्यालय का घेराव करने का निर्णय लिया है व्यवसायियों ने कहा कि अभी उनका स्टोन के शुरू से रेट तय नहीं हुआ है . पिछले वर्ष डीएम की की अध्यक्षता में हुई बैठक में ₹32 रुपया देने का निर्णय हुआ लेकिन इसके बावजूद स्टोन क्रशर ने ₹29 कुंटल पर उनसे माल खरीदा.

व्यवसाई ने जो विधायक पर आरोप लगाया कि वह इस मांग को लेकर उनके घर गए तो विधायक ने उन्हें फटकार कर भगा दिया. उन्होंने कहा की इस समय जनप्रतिनिधियों को जनता के पक्ष में आना चाहिए जबकि जनप्रतिनिधि सरकार समेत अवैध रूप से खेतों में खनन कर रहे लोगों और स्टोन क्रेशर जैसे मालदार लोगों के पक्ष में हैं

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.