यहाँ शिव भक्त आपस में टकराए, कावड ला रहे जाट रेजिमेंट के फौजी की कर दी हत्या

ख़बर शेयर करें

हरिद्वार एसकेटी डॉट कॉम

Haridwar kawad news -हरिद्वार से कावड़ लाए रहे शिव भक्तों की आपस में टकराने लगे हैं कांवड़ यात्री दूसरे लोगों से तो भिड़ते ही हैं लेकिन कई बार विवाद की वजह से उसमें भी एक दूसरे से भिड़ जाते हैं इसी मामले में कई बार कातिलाना हमला होने की वजह से मौत भी हो जाती है.

ऐसा ही एक मामला हरिद्वार से सामने आ रहा है जहां कांवडिय़ों के बीच विवाद में एक कांवडि़ए की हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि युवक सेना की जाट रेजीमेंट में तैनात था और छुट्टी पर साथियों के साथ कां वड़ लेने हरिद्वार आया हुआ था।

जानकारी के अनुसार मुजफ्फरनगर जिले के सिसौली गांव निवासी कार्तिक 25 वर्ष पुत्र योगेंद्र सेना की जाट रेजीमेंट में गुजरात में तैनात था। वह सावन में छुट्टी लेकर घर आया था और अपने मित्र ओमेंद्र पुत्र पवन सिंह के साथ बाइक पर कांवड़ लेने के लिए हरिद्वार आया था।

मंगलवार को दोनों मित्र वापस लौट रहे थे। बताया गया कि हाईवे पर नगला इमरती गांव के मोड़ पर बने फ्लाईओवर पर हरियाणा के कुछ कांवडिय़ों ने उनकी बाइक के सामने अपनी बाइक फंसा दी इसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। इसके बाद हरियाणा के पांच कांवडिय़ों ने लाठी और धारदार हथियारों से कार्तिक पर हमला बोल दिया।

इस दौरान मारपीट में वह गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने एंबुलेंस से घायल को निजी अस्पताल में पहुंचाया। डॉक्टरों ने उसे रुडक़ी सिविल अस्पताल भेज दिया। रुडक़ी अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इंस्पेक्टर राजीव रौथाण का कहना है कि घटनास्थल सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र का है लेकिन घटनास्थल पर मंगलौर पुलिस पहुंची थी। शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी भेज दिया।

इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि गैर इरादतन हत्या के आरोप में एचआर नंबर सवार 15-20 अज्ञात कांवडय़िों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। सेना के जवान की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच संदिग्धों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ जारी है। पुलिस आगे की कार्रवाई के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने का इंतजार कर रही है। बताया जा रहा है कि संदिग्धों ने मुजफ्फरनगर में भी विवाद किया।

भौराकलां थाना क्षेत्र के कस्बा सिसौली के दर्जनों युवक डीसीएम में सवार होकर हरिद्वार डाक कांवड लेने गए थे। मंगलवार सुबह को वह हरिद्वार से डाक कांवड लेकर वापस लौट रहे थे। जैसे ही ये लोग मंगलौर के पास पहुंचे तो हरियाणा के पानीपत के गांव चुलकाना के डीसीएम सवार डाक कावंड़ियों से ओवरटेक करने को लेकर कहासुनी हो गई। जिससे क्षुब्ध होकर उन्होंने लाठी-डंडो व धारधार हथियारों से हमला कर दिया। जिससे कार्तिक पुत्र योगेंद्र निवासी सिसौली की मौत हो गई। जबकि कई घायल हो गए।

डीसीएम में आग लगाने की कोशिश

आरोपित अपनी दो डीसीएम में सवार होकर वहां से भागने लगे। सिसौली के कांवड़ियों ने अपने वाहनों के द्वारा उनका पीछा करते हुए हाईवे पर स्थित बरला राजवाहे के उन्हें घेर लिया। इस दौरान दोनों पक्षों में लाठी-डन्डों व धारधार हथियारों से जमकर मारपीट हुई। गाड़ियों में हुई तोडफोड में पानीपत के कांवड़ियों की डीसीएम के शीशे टूट गए। इस दौरान डीसीएम में आग लगाने का प्रयास भी किया गया।

पुलिस में मचा हड़कंप

दिन-निकलते ही कांवडयों में मारपीट की सूचना पर पुलिस-प्रशासन में हडकंप मच गया। आनन-फानन में सीओ सदर हेमंत कुमार, प्रभारी निरीक्षक आशुतोष कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और कांवडयों को समझा-बुझाकर शान्त किया। मारपीट में घायल विक्रांत पुत्र राजेंद्र, शोकेंद्र पुत्र राजवीर, विक्की पुत्र मांगेराम, सन्नी पुत्र वीरपाल निवासी सिसौली आदि को पुलिस ने मेडिकल परिक्षण के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। पुलिस ने सचिन पुत्र महीपाल, पंकज पुत्र मैनपाल, सुंदर पुर रामभोज, टिंकू पुत्र रमेश, गोलू उर्फ राहुल पुत्र पहल सिंह, आकाश पुत्र बिजेंद्र निवासी गण गांव चुलकाना थाना संभालखा जिला पानीपत, हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.