यहां पीएम ने जनसभा को किया संबोधित, उत्तराखंड में विकास की नई गाथा को लेकर कही ये बात

ख़बर शेयर करें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माणा में एक जनसभा को संबोधित किया है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा है कि माणा गांव को भारत के अंतिम गांव के रूप में जाना जाता है लेकिन मेरे लिए सीमा पर बसा हर गांव देश का पहला गांव है। पीएम मोदी ने कहा है कि यह दशक उत्तराखंड का दशक है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा बाबा केदार और बद्री विशाल के दर्शन कर मन प्रसन्न हो गया, जीवन धन्य हो गया।


पहले जिन इलाकों को देश की सीमाओं का अंत मानकर नजरअंदाज किया जाता था, हमने वहां से समृद्धि का आरंभ मानकर काम शुरू किया। पहले देश का आखिरी गांव जानकर जिसकी उपेक्षा की जाती थी, हमारी सरकार ने वहां के लोगों की अपेक्षाओं पर फोकस किया है।


पहाड़ों में गूंजेगी रेलगाड़ी की आवाज
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हिमालय की हरी भरी पहाड़ियों पर रेल गाड़ी की आवाज उत्तराखंड के विकास की नई गाथा लिखेगी। देहरादून एयरपोर्ट भी अब नए अवतार में सेवा दे रहा है।


बद्रीनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद माणा पहुंचे पीएम मोदी ने कहा कि 21 वीं सदी के विकसित भारत के निर्माण के दो प्रमुख स्तंभ हैं, पहला-अपनी विरासत पर गर्व और दूसरा विकास के लिए हर संभव प्रयास। पीएम मोदी ने कहा कि देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर लाल किले से मैंने आह्वान किया है गुलामी की मानसिकता से पूरी तरह की मुक्ति का। लंबे समय तक हमारे यहां अपने आस्था स्थलों के विकास को लेकर एक नफरत का भाव रहा।


आस्था के केंद्र हैं प्राणवायु
पीएम ने कहा कि विदेशों में वहां की संस्कृति से जुड़े स्थानों की ये लोग तारीफ करते-करते नहीं थकते थे लेकिन भारत में इस प्रकार के काम के हेय दृष्टि से देखा जाता था। आस्था के ये केंद्र सिर्फ एक ढांचा नहीं बल्कि हमारे लिए प्राणवायु की तरह हैं। वो हमारे लिए ऐसे शक्तिपुंज हैं जो कठिन से कठिन हालात में भी हमें जीवंत बनाए रखते हैं। वहीं राममंदिर का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि अयोध्या में इतना भव्य राममंदिर बन रहा है, गुजरात के पावागढ़ में मां कालिका के मंदिर से लेकर विंध्याचल देवी के कॉरिडोर तक, भारत अपने सांस्कृतिक उत्थान का आह्वान कर रहा है।


राज्य की आर्थिक प्रगति होगी
पीएम मोदी ने केदारनाथ और हेमकुंड साहिब रोपवे को राज्य के लिए बेहद अहम बताया है। उन्होंने कहा कि, आज मुझे दो रोपवे परियोजना के शिलान्यास का सौभाग्य मिला। इससे केदारनाथ और हेमकुंड साहिब के दर्शन करना और आसान हो जाएगा। इसका निर्माण न केवल कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए है, बल्कि यह राज्य में आर्थिक विकास को गति देगा

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.