उत्तराखंड में यहां मिली चार प्राचीन सुरंगें, जीर्णोद्घार में जुटा पुरातत्व एवं संस्कृति विभाग

ख़बर शेयर करें

देवलगढ़ की गुफाएं

उत्तराखंड के श्रीनगर के देवलगढ़ क्षेत्र में पुरातत्व विभाग ने चार प्राचीन सुरंगों को खोज निकाला है। देवलगढ़ में मिली इन चारों सुरगों को कत्यूरी शासनकाल के दौरान का बताया जा रहा है। पुरातत्व एवं संस्कृति विभाग इन सुरंगों के जीर्णोद्घार में जुट गया है।

Ad
Ad

देवलगढ़ में मिली चार प्राचीन सुरंगें

देवलगढ़ क्षेत्र में पुरातत्व विभाग को चार प्राचीन सुरंगें मिली हैं। शुक्रवार को संस्कृति विभाग देहरादून व पुरातत्व विभाग पौड़ी की टीम दंवलगढ़ पहुंची। टीम ने सुरंगों का निरीक्षण किया गया। बता दें कि ये सुरंगें नौला गाड़ के पास पश्चिम दिशा की ओर मिली हैं। इन्हें काफी सालों पुराना बताया जा रहा है।

DEVLGARH

75 मीटर से लेकर 150 मीटर लंबी हैं सुरगें

बताया जा रहा है कि लंबे समय से लोगों की नजरों से ओझल होने के कारण यहां मिट्टी का भराव हो गया था। इन सुरंगों की लंबाई 75 मीटर से लेकर 150 मीटर लंबी बताई जा रही है। इन सुरंगों का अब जीर्णोद्धार किया जा रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि ये सुरंगे राजा अजयपाल के दौर की हो सकती हैं।

DEVLGARH

सुरंगों को जोड़ा जाएगा पर्यटन से

पुरातत्व विभाग पौड़ी के क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी का कहना है कि अब इन सुरंगों का जीर्णाेद्धार कर इन्हें पर्यटन से जोड़ा जाएगा। ऐसा होने से स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही यहां आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड के पौराणिक इतिहास को जानने का मौका मिलेगा।