चार धाम यात्रा एक बार फिर चढ़ी अवस्थाओं के भेंट, 64 सदस्यीय दल को 1 दिन में चारों धाम के दर्शन करने की स्लॉट हुए आवंटित

ख़बर शेयर करें

राज्य में इस बार चार धाम की यात्रा कई स्तरों पर अव्यवस्था की भेंट चढ़ गई है। हालात ये हैं कि श्रद्धालुओं को एक ही दिन में चारों धाम के दर्शन के लिए स्लाट बुक किया जा रहा है।

चर्चित अखबार में प्रकाशित एक समाचार के अनुसार मध्य प्रदेश के जबलपुर के 64 सदस्यीय दल चार धाम यात्रा के लिए ऋषिकेश पहुंचा। सरकार की व्यवस्था के अनुसार उन्होंने धामों में दर्शन के लिए स्लाट बुक कराया। स्लाट बुकिंग के बाद वो हैरान रह गए।

खबर के अनुसार 64 सदस्यीय इस दल को एक ही दिन में चारों धामों में दर्शन का पंजीकरण कर दिया गया था। पंजीकरण के अनुसार 8 जून को सभी को एक ही दिन में गंगोत्री, यमुनोत्री बद्रीनाथ और केदारनाथ के दर्शन का स्लाट आवंटित किया गया।

अब ऐसे में सवाल उठता है कि वो कौन की विधि होगी जिसके जरिए एक ही दिन में 64 लोगों का दल उत्तराखंड के चारों धामों का दर्शन कर ले। जानकारों की माने तो एक दिन में तो हेलिकॉप्टर के जरिए भी चारों धामों में दर्शन कर पाना संभव नहीं हो सकता है।


ऋषिकेश से गंगोत्री की दूरी 260 किमी से अधिक की है। वहीं गंगोत्री और यमुनोत्री की दूरी 220 किमी से अधिक है। गंगोत्री से केदारनाथ की दूरी 480 किमी की है जबकि केदारनाथ से बद्रीनाथ की दूरी 218 किमी है।


एक ही दिन में चारों धामों के दर्शन करने के लिए लगभग 1000 किमी से भी अधिक की दूरी नापनी पड़ेगी। सामान्य परिस्थितियों में उत्तराखंड में ये संभव नहीं लगता। अब स्लाट बुक करने वाले ही ये बता सकते हैं कि आखिर उन्होंने किस व्यवस्था को ध्यान में रख कर ऐसे स्लाट आवंटित किए।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.