सावधान – संभल कर जलाए राकेट यहाँ तों घास का लूटा हो गया खाक#bewaearrocket

ख़बर शेयर करें

चंपावत एसकेटी डॉट कॉम

दीपावली के समय रॉकेट तथा पटाखे जलाते समय सावधानी बरतनी जरूरी है रंग में भंग भी पड़ सकता है कई बार थोड़ी सी सावधानी की वजह से काफी बड़ा नुकसान हो जाता है इससे पहले भी कई बार ऐसे हादसे हो चुके हैँ.

यहां चंपावत जिले के एड़ी सेरा छतकोट गांव में देर रात एक जलता हुआ राकेट गांव के जगदीश सिंह के द्वारा अपने घर के पास बनाए गए घास के लुटे में जा घुसा जिस कारण जगदीश सिंह का घास का लूटा धू-धू कर जलने लगा.

गांव के युवा मुकेश बोहरा ने बताया हैजगदीश सिंह के परिवार के द्वारा शोर मचाने पर गांव के सभी महिला, पुरुष व युवा जगदीश सिंह की घर की ओर भागे तथा घास के लुटे में लगी भीषण आग को पानी डालकर बुझाने की कोशिश में जुट गए पर आग नहीं बुझ पाई ग्रामीणों के प्रयास से जगदीश सिंह के घास के दूसरे लुटे को बचाने में ग्रामीण कामयाब रहें अन्यथा आग और भी ज्यादा भीषण रूप लेकर गांव में फैल सकती थी

मुकेश ने बताया कि जगदीश सिंह के परिवार के द्वारा अपने मवेशियों के खाने के लिए कड़ी मेहनत से घास को काटकर सुखाने के लिए घास के लुटे बनाए गए थे पर घास जलने से जगदीश सिंह को 2000 से ₹2500 का आर्थिक नुकसान हो गया है

वहीं ग्रामीणों के द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद दूसरे घास के लुटे को बचा लियाऔरआग को गांव में फैलने से रोका गया वहीं ग्रामीणों ने प्रशासन से जगदीश सिंह को मुआवजा देने की मांग करी है आग बुझाने में मुकेश बोहरा, मनोज, राकेश, रोहित, गणेश सचिन ,अमर, इंद्र सिंह, राहुल सहित गांव के सभी ग्रामीणों ने सहयोग दिया

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.