व्यापारी नेता का दर्द- जनप्रतिनिधियों, प्रशासन एवं निगम की अनदेखी से हल्द्वानी व्यापार प्रभावित#tradeaffected

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

दीपावली की तैयारियों के बीच बाजार में भीड़ बढ़नी शुरू हो गई है. धनतेरस खरीदारी का मुख्य त्योहार माना जाता है के साथ ही लक्ष्मी पूजन के लिए लोग पूजा सामग्री समेत कई चीजों की खरीदारी करते हैं . धनतेरस के दिन सोने चांदी के आभूषण खरीदना शुभ माना जाता है. इसके लिए बाजार सज कर तैयार हैं ग्राहकों का इंतजार किया जा रहा है.

लेकिन बाजार आने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है

लोगों के लिए समुचित पार्किंग तथा सुलभ शौचालय की व्यवस्था नहीं होने से लोग परेशान रहते हैं

हल्द्वानी कुमाऊं की सबसे बड़ी बाजार है और यहां सभी थोक एवं रिटेल की खरीदारी होती है यहां की भीड़ भाड़ एवं अव्यवस्था के चलते लोग अब बाजार आने के बजाय अपने नजदीक की दुकानों से ही सामान लेना पसंद करते हैं जिससे दुकानदारों को काफी नुकसान हो रहा है.

प्रांतीय उद्योग प्रतिनिधि व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा ने अपने एक विशेष साक्षात्कार में बताया कि बाजार में भीड़ बहुत है

लेकिन खरीदारी काफी कम हो रहे हैं इसके लिए कई बिंदु जिम्मेदार हैं जिनमें ऑनलाइन के अलावा बाजार में पार्किंग की उचित सुविधा नहीं होना है

हल्द्वानी बाजार में सिर्फ कुमाऊँ मंडल विकास निगम की एक पार्किंग है जो कि कुछ ही गाड़ियों से भर जाती है इसके अलावा अस्थाई रूप से रामलीला मैदान में पार्क में होती है लेकिन वहां भी जगह नहीं है जिसकी वजह से लोग बाजार में आने से कतराते हैं उन्होंने कहा कि इस मामले पर प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने कई बार जिलाअधिकारी और कमिश्नर के सामने उठाया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

इसके अलावा स्थानीय विधायक और मेयर ने भी इस संबंध में कोई पैरवी नहीं की है. लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है लेकिन जनप्रतिनिधि व्यापारियों की इन दिक्कतों को समझने की भी जहमत नहीं उठा रहे हैं जिससे व्यापारी परेशान है

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश भर में लाखों व्यापारी जो कि इस तरह की कई समस्याओं से जूझ रहे हो हल्द्वानी कि अगर समस्या देखी जाए तो मुख्य रूप से पार्किंग की समस्या है इसके अलावा नगर निगम प्रशासन ने रेडी और फोड़ वालों के लिए कोई व्यवस्था नहीं कर रखी है रेडी और फड़ वाले बाजार में घुस जाते हैं जिससे वह सड़क पर अपनी रेडी लगा देते हैं जिससे आने जाने वालों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है उससे खरीददार दुकान में भी नहीं चढ़ पाता है.. रेडीवालों को कॉलोनी की गलियों में जाकर लोगों को सामान उपलब्ध कराना चाहिए. प्रशासन की उदासीनता के चलते व्यापार बहुत ही कठिन समय से गुजर रहा है ऐसे में सरकार को अपने देश के बने हुए उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए वितीय मदद करनी चाहिए ताकि वह चाइनीज उत्पादों का डटकर मुकाबला कर सके.

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.