ब्राड गेज रेल लाइन एवं सैनिक स्कूल के लिए वित्तीय मदद की मांग को लेकर राजनाथ के दरबार पहुँचे धामी

Ad
ख़बर शेयर करें

दिल्ली एसकेटी डॉटकॉम

चुनावी वर्ष को देखते हुए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के लिए दो परियोजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से अनुरोध क्या। धामी ने ने केंद्रीय मंत्री से सामरिक महत्व को देखते हुए टनकपुर-बागेश्वर रेल लाईन ब्राडगेज (बीजी) की स्वीकृति के लिये रक्षा मंत्रालय के स्तर से भी संस्तुति करने का अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री ने जखोली, रुद्रप्रयाग में स्वीकृत सैनिक स्कूल की अवस्थापना सुविधाओं के लिए एमओयू में संशोधन करते हुए केन्द्रीय सहायता का भी अनुरोध किया।

बरसों से टनकपुर बागेश्वर रेल मार्ग के लिए की जा रही मांग के तहत नैरोगेज से विशेष लाभ की उम्मीद नहीं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी यह जानते हैं कि सामरिक महत्व के क्षेत्र टनकपुर और बागेश्वर के भी रेल लाइन के सर्वे को रक्षा मंत्रालय की ओर से ब्रॉडगेज में बदलने की संस्तुति करने का अनुरोध किया पुलिस और उन्होंने कहा कि नेपाल भारत को अब पहले से अधिक चिंता में डाले रखता है वहीं चीन की नजर भारत के इलाके पर गड़ी हुई रहती है इसलिए भारत की इस क्षेत्र में आवागमन की सुविधा मजबूत होनी चाहिए। नैरोगेज से वह यातायात एवं विकास नहीं हो पाता है जो ब्रॉडगेज से संभव होता है इसीलिए उन्होंने रक्षा मंत्रालय से रेलवे को संस्तुति करने का अनुरोध किया है कि इस मार्ग का विशेष महत्व है इसलिए इसकी सर्वे ब्रॉडगेज के तौर पर की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के क्षेत्रीय सामाजिक सांस्कृतिक तथा पर्यटन के विकास और सामरिक दृष्टिकोण से रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा टनकपुर और बागेश्वर के बीच नैरोगेज रेलवे लाईन हेतु सर्वे का आदेश निर्गत किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नैरोगेज रेलवे लाईन से न तो सामरिक महत्व के मसले हल होंगे और न ही यहां की यातायात व अन्य मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति होगी। यह लाईन ब्राडगेज में होनी चाहिये। चीन और नेपाल की अंतर्राष्ट्रीय सीमा के निकट स्थित होने के कारण यह रेल लाईन सामरिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण है। साथ ही यह नये व्यापार केन्द्रों को भी जोड़ेगी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय रक्षा मंत्री से उनके स्तर से भी टनकपुर-बागेश्वर ब्राडगेज लाईन की स्वीकृति के लिये संस्तुति किये जाने का अनुरोध किया

जखोली, रुद्रप्रयाग में स्वीकृत सैनिक स्कूल की अवस्थापना सुविधाओं के लिए केन्द्रीय सहायता का अनुरोध

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को अवगत कराया कि उत्तराखण्ड राज्य में एक अतिरिक्त सैनिक स्कूल जखोली, जनपद रुद्रप्रयाग में खोले जाने की स्वीकृति प्रदान की गयी थी। इसके लिए रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार तथा उत्तराखण्ड राज्य के मध्य एमओयू किया गया था। सैनिक स्कूल की स्थापना हेतु उत्तराखण्ड राज्य द्वारा अवस्थापना संबंधी सुविधायें उपलब्ध कराई जानी थी। मुख्यमंत्री ने राज्य के सीमित वित्तीय संसाधनों को देखते हुए एमओयू में संशोधन करते हुए अवस्थापना विकास हेतु वित्तीय सहायता भारत सरकार द्वारा प्रदान किये जाने का आग्रह किया।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *