ब्रेकिंग अपडेट – 24 घंटे बाद भी संजीवीनी अस्पताल के स्वामी डॉ महेश का कोई सुराग नहीं, गाइड डॉ शकील का शव बरामद (जाने कैसे हुआ यह सब)

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी /श्रीनगर एसकेटी डॉट कॉम

पिछले 24 घंटे से लगातार खोजबीन के बाद भी संजीवनी अस्पताल के स्वामी डॉक्टर महेश कुमार का कोई अता पता नहीं है जबकि उनके साथ स्थानी गाइड डॉक्टर शकील का शव बरामद हो गया है l लेकिन सबसे बड़ी दुखद बात यह है कि डॉक्टर महेश का शव अभी तक बरामद नहीं हुआ है लगातार खोजबीन चल रही है डॉ महेश की पुत्री मौली और पत्नी पूनम भी घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैँ l

यहां हल्द्वानी में डॉक्टर और संजीवनी अस्पताल के स्टाफ काफी चिंतित है लगातार खोजबीन चल रही है लेकिन डॉक्टर महेश का शव अभी तक रेस्क्यू करने वाली टीम के हाथ नहीं लगा है लिए

जानकारी के अनुसार संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ महेश कश्मीर में एक नदी में डूब गए। उनके साथ उनके स्थानीय गाइड डॉ शकील अहमद समेत करीब 14 लोग थे। डॉ शकील का शव कश्मीर की त्राल झील से बरामद कर लिया गया है। जबकि डॉ महेश का अभी तक पता नहीं चला है। इधर यहां हल्द्वानी में जहां शहर के सभी चिकित्सक हैरान परेशान हैं तो वहीं डॉ महेश के परिजनो का बुरा हाल है। गोताखोर टीमें उनकी तलाश में जुटी हैं।


डॉ. महेश के साथ झील में गिरे स्थानीय गाइड का शव बृहस्पतिवार को बरामद हो गया। इधर, डॉ. महेश के बारे में सूचना मिलने पर संजीवनी अस्पताल के कर्मचारियों समेत शहर के डॉक्टर सकते में हैं। उनके परिवार के लोग घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।
परिजनों और उनके मित्रों से मिली जानकारी के अनुसार आईटीआई रोड स्थित संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ. महेश 18 जून को हल्द्वानी से अपने दो साथियों डॉ. राजेश रोशन और नैनीताल के कीर्ति के साथ 20-22 लोगों के दल में शामिल थे।

बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह सब ठीक था। काफिला आगे निकला तो रास्ते में एक पहाड़ी नदी थी जिस पर पगडंडी की तरह लकड़ी का पुल बना था। पार करते समय पुल टूट गया। इसमें 14 लोग झील में गिर गए। बचाव दल ने 12 लोगों को झील से निकाल लिया लेकिन डॉ. महेश और गांदरबल निवासी गाइड शकील अहमद झील में गिर गए।

बुधवार और बृहस्पतिवार को एनडीआरएफ की टीम लगातार खोज में लगी रही। बृहस्पतिवार को गाइड डॉ. शकील का शव बरामद कर लिया गया जबकि डॉ. महेश का पता नहीं चल सका l

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.