ब्रेकिंग- हरक, काऊ पहुँचे दिल्ली, जाने से पहले प्रीतम के साथ भी दिखे

Ad
ख़बर शेयर करें


दिल्ली एसकेटी डॉट कॉम

उत्तराखंड में ठीक विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी कांग्रेस में नेता दल बदल कर रहे हैं इस बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ दिल्ली रवाना हो गए हैं।

उत्तराखंड भाजपा में एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने के कयास शुरू हो गए हैं। हालांकि इस बार सूत्र बताते हैं कि प्रदेश अध्यक्ष के रूप में बहुत ही चौंकाने वाला फैसला भी पार्टी आलाकमान कर सकता है जी हां कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस गोत्र के एक मंत्री को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी पार्टी आलाकमान सौंप सकती है ।

सूत्र बताते हैं हरक सिंह रावत को पार्टी जिम्मेदारी अध्यक्ष के रूप में सौंप सकती है हालांकि अगर प्रदेश अध्यक्ष के रूप में जिम्मेदारी नहीं दी गई तो चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष के रूप में उन्हें जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

सूत्र बताते हैं कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हरक सिंह रावत को दिल्ली बुलाया है माना जा रहा है। और हरक सिंह रावत दिल्ली भी रवाना हो गए हैं साथ मे उमेश शर्मा काऊ भी गए है।

साफ है बीजेपी जल्द ही प्रदेश अध्यक्ष को लेकर फैसला किया जा सकता है वैसे भी हरक सिंह रावत पिछले दिनों चुनाव ना लड़ने की बात कह चुके हैं। और 30 सीटों में उनके प्रभाव होने के बाद भी वह कर चुके हैं ऐसे में इस बात को लेकर जरूर ऐनवक्त पर निर्णय भी बदल सकता है। कि प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री दोनों ठाकुर हो जाएंगे तो फिर पार्टी आलाकमान कैसे बैलेंस बनाएगी हालांकि पार्टी आलाकमान को गढ़वाल से प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर दबाव लगातार बढ़ रहा है क्योंकि हरिद्वार से मदन कौशिक भले ही अध्यक्ष हैं लेकिन वह पहाड़ी चेहरा नहीं है।

जबकि हरक सिंह रावत का उत्तराखंड के कई विधानसभा क्षेत्रों में प्रभाव है हालांकि हरक सिंह रावत की नाराजगी उपेक्षा को लेकर है। लेकिन अगर पार्टी इतनी बड़ी जिम्मेदारी उन्हें देती है तो ना केवल हरक सिंह रावत की नाराजगी खत्म होगी बल्कि पार्टी संगठन में भी उनका हस्तक्षेप बढ़ेगा वहीं अगर हरक सिंह रावत को चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया तो भी उन्हें चुनावों की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देकर पार्टी उनकी जिम्मेदारी बढ़ा सकती है।

अब देखना होगा कि क्या भारतीय जनता पार्टी उत्तराखंड में चुनाव से पहले क्या प्रदेश अध्यक्ष बदल कर कमान हरक सिंह के हाथों पर देगी यह बड़ा सवाल होगा।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *