Breaking -कमिश्नर दीपक रावत के निर्देश पर प्राधिकरण के भ्रष्टाचार पर बैठी जांच, इस मामले पर जेई के खिलाफ…#iasdeepakrawatdevlopmentauthourity

ख़बर शेयर करें

haldwani एसकेटी डॉटकॉम

विकास प्राधिकरण में हो रहे भ्रष्टाचार खिलाफ जब मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया तो अब उस जेई के खिलाफ कमिश्नर दीपक रावत के निर्देश के बाद जांच बैठ गई है..

रामपुर रोड आईटीआई के समीप हरिपुर सूखा निवासी एक व्यक्ति ने जेई मनोज अधिकारी के खिलाफ यह शिकायत दर्ज कराई थी कि उसने नक्शा पास कराने के एवज में उसे ₹100000 की रकम ली इसके बावजूद उसका नक्शा भी पास नहीं कराया जिसके लिए उसने मानवाधिकार आयोग में शिकायत की.

सूत्रों के अनुसार आयोग ने इस संबंध में कमिश्नर को जांच कर आख्या देने को कहा. कमिश्नर के आदेश के बाद अब जिलाधिकारी ने इस पूरे मसले की जांच के लिए संयुक्त सचिव एवं सिटी मजिस्ट्रेट रिचा सिंह को नामित किया है.

इससे पहले जब इस मामले की जांच के लिए कॉमिश्नर ने अधीनस्थों को इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए तो आनन-फानन में विकास प्राधिकरण बोर्ड की बैठक बुलाकर जेई मनोज अधिकारी को उसके मूल विभाग क़ृषि में भेज दिया गया.

अब कमिश्नर दीपक रावत ने इस संबंध में उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण को पत्र लिखकर आयोग के पत्र का हवाला देते हुए इस संबंध में कार्रवाई करने निर्देश दिए हैं जिसके उपरांत उपाध्यक्ष एवं जिलाधिकारी ने मामले में संयुक्त सचिव जिला विकास प्राधिकरण ऋचा सिंह को इस मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं.

सच की तोप ने अपने-अपने पोर्टल में 29 सितंबर को इस संबंध में एक खबर प्रकाशित की थी जिसका लिंक हम आपको इस खबर के साथ भेज रहे हैं.

    ये भी  पढ़े -----     https://sachkitop.com/breaking-news-1-lakh-bribe-exchange-authoritys-je-exchange-to-pass-a-breaking-news-haldwani-newsmap/

जांच के बाद अब कितनी बड़ी कार्यवाही होती है यह देखने की बात है. लोगों का ऐसा कहना है कि विकास प्राधिकरण में जबरदस्त तारीख लूट खसोट मची हुई है आम आदमी को नक्शा पास कराने के लिए सरकारी शुल्क से भी अधिक रिश्वत देनी पड़ रही है जिससे उन्हें नक्शा पास कराने और घर बनाने के लिए दिन में भी आसमान में तारे नजर आ रहे हैं.

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.