#kasinoऋषिकेश के नामी मिर्गी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर के रिसोर्ट में चल रहे कसीनो पर पड़ ..

ख़बर शेयर करें

ऋषिकेश की योग नगरी में अब भारतीय संस्कृति की सरेआम धज्जिया उड़ाई जा रही है यहां पर अवैध रूप से कसीनो केंद्र चलाए जा रहा था पुलिस को मिली जानकारी मुताबिक जब यहां पर नीरज रिसोर्ट के पीछे के हिस्से में छापा मारा गया तो वहां का नजारा देखकर पुलिस भी हैरान रह गई यहां पर कसीनो जलाया जा रहा था और कुल मिलाकर 37 लोग पुलिस की गिरफ्त में आ गए जिनमें पांच महिलाएं भी शामिल है

Ad
Ad

जानकारी के अनुसार ऋषिकेश में चर्चित मिर्गी रोग विशेषज्ञ आरके गुप्ता के पौड़ी जिले के गंगा भोगपुर में बने नीरज फॉरेस्ट रिजार्ट के वेलनेस सेंटर में चल रहे कसीनो का पुलिस ने बृहस्पतिवार की रात भंडाफोड़ करते हुए 37 लोगों को दबोच लिया।

इनमें पांच महिलाएं और ऋषिकेश कोतवाली का सिपाही भी शामिल है। पुलिस ने पांच लाख से ज्यादा का कैश, 3,993 कसीनो चिप्स, 37 मोबाइल फोन, छह शराब की बोतलें भी बरामद की हैं।

पौड़ी के लक्ष्मणझूला थाने में पुलिस ने रिजार्ट मालिक आरके गुप्ता, प्रबंधक साहिल ग्रोवर, फ्रंट ऑफिस मैनेजर राहुल गुप्ता और दिल्ली के विशाल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस ने रिजार्ट के वेलनेस सेंटर को भी सील कर दिया है। एसएसपी पौड़ी श्वेता चौबे ने बताया, सूचना मिली थी कि नीरज फॉरेस्ट रिजॉर्ट में पिछले दो दिनों से अवैध कसीनो का संचालन हो रहा है।


एएसपी कोटद्वार जया बलोनी और सीओ श्रीनगर रविंद्र चमोली के नेतृत्व में टीम बनाई गई। टीम ने बृहस्पतिवार देर रात रिजॉर्ट में छापा मारकर पांच महिलाओं और एक सिपाही समेत 37 लोगों को जुआ खेलते हुए पकड़ लिया। पुलिस ने मौके से पांच लाख 16 रुपये नकद, कसीनो चिप्स, ताश की गड्डियां, मोबाइल फोन, लग्जरी गाड़ियां भी बरामद कीं।


बताया, पकड़े गए लोगों में हरिद्वार, दिल्ली और यूपी के बिजनौर के निवासी हैं। बताया, जुआ खिलवाए जाने के अलावा बेसमेंट में शराब भी परोसी जा रही थी।

कैश के बदले दिए जाते हैं कसीनो चिप्स


एसएसपी के मुताबिक, जुआ खेलने वालों को कैश के बदले कसीनो चिप्स दिए जाते हैं। आयोजक जुए की रकम का पांच प्रतिशत हिस्सा रखकर बाकी रकम जीतने वाले को ऑनलाइन ट्रांसफर करते हैं। पुलिस की ओर से इनके बैक खातों की जानकारी की जा रही है। बताया, कसीनो का मास्टरमाइंड शिवालिक नगर हरिद्वार का विशाल है। ऑनलाइन ग्रुप के माध्यम से सभी लोगों को जोड़ा था।

ये पकड़े गए
विशाल कर्णवाल, विनीत कुमार काला, ललित चौहान, रामकुमार चौहान, ओमप्रकाश हरिद्वार, धनीराम, मंजीत कुमार, कृष्ण दय्या, प्रमोद गोयल, कपिल मेहता, दिनेश कुमार गोयल, गुरुमीत कौर, प्रदीप, रतन जोत, धर्मेंद्र, सरबजीत, अशोक, प्रीतम सिंह, भावना पांडेय, इंद्रा, रमीता श्रेष्टा, चीजा खोड़गा, प्रवीन मित्तल, मोहित सिंघल, राजेश सभी दिल्ली, हरभजन, अमित, आदित्य कुमार, अमर सिंह, नादिम सभी बिजनौर, दिलबर रावत निवासी ग्राम बुकंडी, पौड़ी गढ़वाल और ऋषिकेश कोतवाली में तैनात सिपाही विनीत।