उत्तराखंड के लिए सीख- हिमाचल बना सैलानियों के लिए यादगार यहां फ्लाइंग रेस्टोरेंट में कीजिए डिनर

ख़बर शेयर करें

मनाली /शिमला एसकेटी डॉट कॉम

पर्यटन व्यवसाय के तौर पर हिमाचल प्रदेश जहां फ्लाइंग रेस्टोरेंट मैं सैलानियों के लिए डिनर तथा लंच की व्यवस्था करने के साथ ही उन्हें भरपूर नर्सिंग सुंदरता के दर्शन करा रहा है वही उत्तराखंड के टूरिस्ट प्लेस पर्यटकों के लिए पार्किंग की व्यवस्था भी नहीं जुटा पा रहे हैं। सैलानी यहां पर व्यवस्था नहीं होने के बावजूद लगातार आ रहे हैं लेकिन उत्तराखंड के नीति नियंता अपनी अकर्मण्यता के चलते प्रदेश के पर्यटक स्थलों जिनमें मंसूरी वह नैनीताल प्रमुख रूप से शामिल हैं पार्किंग समेत जन सुविधा उपलब्ध नहीं करा पा रही है। पर्यटकों को होटल व्यवसाई लूट भी रहे हैं जिसके बाद पर्यटक दोबारा यहां आने को तैयार नहीं होता है जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अलावा सरकार को राजस्व भी नहीं मिल पाता है वही हम हिमांचल उसकी बात करें तो व्यवस्थाओं के अलावा वहां हमेशा पर्यटकों की सुविधाओं के लिए कई नई चीजें भी तैयार की जा रही है ऐसा ही एक नया विजन हिमाचल के व्यवसाई दमन कपूर द्वारा किया गया है

उनके द्वारा एक ऐसा उड़ता हुआ रेस्टोरेंट तयार किया गया है जहां पर 24 लोगों को एक साथ डिनर अथवा लंच कराया जा सकता है इसके लिए उन्हें प्रति व्यक्ति सिर्फ ₹4000 का भुगतान करना पड़ता है। यह उड़ते हुए रेस्टोरेंट्स से सैलानी नर्सरी सौंदर्य का आनंद लेते हुए 360 डिग्री के साथ चारों तरफ का दृश्य देख सकते हैं

रेस्टोरेंट मालिक दमन कपूर ने बताया मनाली में पर्यटन को बढ़ावा मिले इस सोच से 2250 मीटर की ऊंचाई पर करीब नौ करोड़ की लागत से मनाली का पहला फ्लाइंग रेस्टोरेंट तैयार किया है. इस फ्लाई डायलिंग का मजा 24 लोग एक साथ ले सकते हैं. इस फ्लाई डायलिंग में 170 फीट की ऊंचाई पर 3999 रुपये प्रति व्यक्ति लंच या डिनर का मजा ले सकते हैं

कैबिनेट मंत्री गोविंद ठाकुर का कहना है कि इस फ्लाइंग रेस्ट्रोरेंट के खुलने से मनाली में पर्यटक को और बढ़ावा मिलेगा. आगे उन्होंने कहा कि जल्द ही रोहतांग दर्रे में व्यास ऋषि की प्रतिमा बनेगी जो पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र होगी. पर्यटन स्थल गुलाबा को भी पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा रहा है.

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.